मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय - Home remedies for bleeding gums in Hindi
नुस्खे

मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय - Home remedies for bleeding gums in Hindi

Health Raftaar

अगर ब्रश करते समय या फ्लॉसिंग करते समय आपके मसूड़ों से खून आता है, तो उस समय आप सोचते हैं कि ये तो आम बात है। लेकिन मसूड़ों से खून आना अंतर्निहित समस्या भी हो सकती है। कारक जैसे काफी रगड़कर ब्रश करना, चोट लगना, प्रेग्नेंसी और सूजन की वजह से मसूड़ों से खून आ सकता है। मसूड़ों में सूजन के कारण लालिमा, स्वेलिंग और टेंडरनेस आ सकती है और ये लक्षण पेरिओडोन्टल रोग, जैसे जिंजीवाइटिस या पेरिओडॉन्टाइटिस के भी हो सकते हैं।

मसूड़ों से खून आने के कारण की पहचान करना सबसे उपयुक्त उपचार निर्धारित करने के लिए महत्वपूर्ण है। एक बार कारण जानने के बाद, आप ब्लीडिंग गम्स को रोकने के लिए ये 5 संभावित तरीके चुन सकते हैं।

लौंग का तेल:

सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक माना जाता है, लौंग का तेल मसूड़ों की सूजन को कम करने में मदद करता है और मसूड़ों को काफी हद तक रक्तस्राव से रोकता है। थोड़ा सा लौंग का तेल लें और इसे अपने मसूड़ों पर रगड़ें या एक या दो लौंग चबाएं। आप थोड़ी जलन महसूस कर सकते हैं, लेकिन यह सूजन को काफी हद तक कम कर देगा।

एलोवेरा का उपयोग करें:

एलोवेरा में कई औषधीय गुण हैं और गुणों में से एक मसूड़ों की सूजन को कम करना है, जिससे रक्तस्राव कम होता है। थोड़ी मात्रा में एलोवेरा का गूदा लें और इसे अपने मसूड़ों पर लगाकर मालिश करें, अपने मुंह को रगड़ने से पहले गूदे को अपने मसूड़ों पर रहने दें। आप एलो वेरा का भी जूस पी सकते हैं।

ब्रश करना और फ्लॉस करना:

रोकथाम हमेशा इलाज से बेहतर रही है। इसलिए यदि आप अपने मसूड़ों की देखभाल करने के लिए मसूड़े में सूजन आने तक इंतजार नहीं करना चाहते हैं तो फ्लॉसिंग के साथ-साथ प्रतिदिन दो बार ब्रश करना शुरू करें। न केवल यह आपको एक सफेद मुस्कान देने में मदद करेगा, बल्कि यह आपको कई मसूड़ों और दांत संबंधी समस्याओं को रोकने में भी मदद करेगा।

ताजे फल और सब्जियां:

ताजा और कच्ची सब्जी और फल न केवल समग्र स्वास्थ्य के लिए अच्छे हैं, बल्कि वे स्वस्थ मसूड़ों के लिए भी उतने ही महत्वपूर्ण हैं। फल और सब्जियां विटामिन, खनिज और कैलोरी से भरपूर होती हैं। कच्ची सब्जियां चबाने से मसूड़ों में रक्त परिसंचरण में सुधार होता है, इस प्रकार मसूड़ों से रक्तस्राव को कम करने में मदद मिलती है।

नमक का गार्गल करना :

सबसे आसान और सरल घरेलू उपचारों में से एक है नमक के पानी से गरारे करना। थोड़ा गुनगुना पानी लें और इसमें थोड़ा नमक मिलाएं और दिन में तीन बार गरारे करें। सुनिश्चित करें कि पानी गर्म न हो क्योंकि इससे जलन हो सकती है।