सर्दियों में खुद को कोरोना से कैसे बचाएं
देखभाल

सर्दियों में खुद को कोरोना से कैसे बचाएं

Team Raftaar

साल का दसवां महीना आ चुका है, लेकिन अभी तक दुनिया को इस कोरोना महामारी से छुटकारा नहीं मिला है। इस वायरस से 34,168,420 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं और और अब ये संख्या 1,018,896 के आसपास पहुंचने वाली है। चीजें अभी तक बेहद चुनौतीपूर्ण हो चुकी हैं, और एक्सपर्ट्स इस बात से चिंतित हैं कि सर्दी जुकाम वाला मौसम आने के बाद यह महामारी और ज्यादा बढ़ सकती है।

सर्दियों के मौसम में श्वसन संबंधी संक्रमण

इससे पहले, यह माना जाता था कि अधिक गर्मी के महीने में महामारी में थोड़ा ठहराव आएगा, हालांकि, इस तरह का कुछ भी सच नहीं निकला। जैसा यह महामारी असंबद्ध गति से फैल रही है, विशेषज्ञों का मानना है कि सर्दी के महीनों में COVID-19 संक्रमण की दर तेजी से बढ़ सकती है। यह समझना महत्वपूर्ण है कि श्वसन संक्रमण की समस्या सर्दियों के महीने में और बढ़ सकती है।

2021 में एक प्रभावी और सुरक्षित कोरोनावायरस वैक्सीन की उम्मीद के साथ, विशेषज्ञ चिंतित हैं कि लोग इन्फ्लूएंजा और कोविड -19 दोनों का अनुबंध कर सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप नकारात्मक परिणाम देखने को मिल सकते हैं। जरूरी है कि सर्दियों में हमें और सतर्कता बरतने की जरूरत है।

ठंड के महीनों में श्वसन संबंधी बीमारियाँ अधिक घातक क्यों हो जाती हैं?

वायरस की अंतर्निहित प्रकृति के कारण, वे शुष्क हवा और ठंडी जलवायु में लंबे समय तक जीवित रहते हैं। इसके अलावा, ह्यूमिडिटी भी बीमारी के प्रसार के लिए एक अनुकूल स्थिति है क्योंकि यह एरोसोल के गठन की ओर बढ़ती है। श्वसन रोग के बढ़ने का अन्य कारकों में से एक कारक है सूर्य का प्रकाश जो कि ठंड में कम हो जाता है जिस वजह से शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है, इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो सकती है।

सर्दियों के मौसम के लिए खुद को कैसे तैयार करें -

दुनियाभर के हैल्थ एक्सपर्ट्स का यही कहना है कि सर्दियों के महीनों में कोरोना संक्रमण और बढ़ सकता है। साथ ही सर्दियों का मौसम वैक्सीन के आने से पहले ही आ गया है। इसलिए, ठंड के मौसम और उमस में खुद को बचाने के लिए, जरूरी है कि आप महामारी के अन्य प्रकोप के लिए भी तैयार रहें। इसके अलावा सर्दियों के मौसम में खुद को कोरोना होने से बचाने के लिए आप भी आज से ही घरेलू नुस्खे लेना शुरू कर दें।

अगर आपको किसी भी तरह के लक्षण दिखाई देते हैं तो कोविड टेस्ट करवाएं। सोशल डिस्टेंस का सख्ती से पालन करें, हाथों को स्वच्छ रखें। श्वसन संबंधी योग करें। सबसे जरूरी बाहर बिना मास्क के न निकलें, खासकर वहां जहां ख़राब वेंटिलेशन है।