गले के छाले कैसे ठीक करे - Gale ke chhale kaise theek kare
देखभाल

गले के छाले कैसे ठीक करे - Gale ke chhale kaise theek kare

Health Raftaar

आपको मुंह में और जीभ पर छालों की समस्या अक्सर होती रहती होगी लेकिन गले में छालों की समस्या आम नहीं है। इन छालों की वजह से गले में इरिटेशन और खुजली की समस्या होती है और ऐसे में रोजाना के कामों पर ध्यान देना मुश्किल हो जाता है। गंभीर स्थिति में दर्द की भी समस्या होने लगती है। लेकिन आपको घबराने की जरूरत नहीं है आपके घर में रखी सामग्रियों से आप अपने गले के छालों को ठीक कर सकते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं –

नमक के पानी से गरारे -

यह गले में खराश के लिए सबसे पुराना और सबसे आसान घरेलू उपचार है, अगर आप अपनी दादी से इस बारे में पूछेंगे तो वो भी यही उपचार बताएंगी। नमक में अद्भुत एंटी-बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। एक कप गर्म पानी में आधा चम्मच नमक मिलाएं। दिन में कम से कम दो-तीन बार गरारे करें। यह बैक्टीरिया को दूर करेगा और एसिड को बेअसर करेगा जो जलन पैदा कर सकता है।

हल्दी वाला दूध -

हल्दी वाला दूध पीना हमारे देश में प्राचीन परंपरा माना गया है। यह गले में खराश, सर्दी और यहां तक कि लगातार खांसी का इलाज करने के लिए जाना जाता है। यह सूजन और दर्द से भी राहत दिला सकता है। आयुर्वेद की दुनिया में, यह एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक के रूप में जाना जाता है।

औषधिक चाय -

डॉक्टर्स का मानना है आप गले के छालों के लिए हर्बल चाय पिएं। अदरक के दो टुकड़े करें, दो हिस्से इलाइची के और तीन हिस्से मुलेठी के। अब इन सामग्रियों को पानी में 5-10 मिनट के लिए पानी में डुबो कर रखें और फिर उस पानी को दिन में कम से कम तीन बार पियें।

शहद -

आप अदरक, शहद और लाइम को गर्म पानी में मिलाकर काढ़ा तैयार कर सकते हैं या एक चम्मच कच्चा शहद का भी सेवन कर सकते हैं। शहद गले को नम करता है और यह समय-समय पर क खांसी का इलाज करने में बहुत प्रभावी है। औषधीय तरीकों के लिए नियमित शहद की बजाए, कच्चे शहद को प्राथमिकता दें। यह गले में सूजन को कम करने में भी मदद करता है।

सेब का सिरका -

सेब के सिरके में एसिडिक गुण होते हैं और गले के बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद कर सकता है। यह सर्दी जुकाम के लक्षणों को भी कम करता है। आप अपनी हर्बल चाय में एक छोटा चम्मच सेब का सिरका डाल सकता है या फिर इसे गरारे करने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।