जी स्पॉट क्या है, किधर होता है, उत्तेजित करने का तरीका - G Spot in Hindi
गर्भावस्था

जी स्पॉट क्या है, किधर होता है, उत्तेजित करने का तरीका - G Spot in Hindi

Health Raftaar

जी-स्पॉट क्या है, यह कहां होता है और उसे कैसे उत्तेजित किया जाता है? चरमसीमा के वक्त इसे कैसे खोजा (How to Find G-spot) जाता है? क्या पुरुषों की तरह स्त्रियां भी स्खलित होती हैं? ऐसे कई सवाल है जो अभी भी कई पुरुषों के लिए एक अबूझ पहेली ही हैं। 'जी-स्पॉट' को ग्राफेनबर्ग-स्पॉट (Grafenberg Spot) कहते हैं जो महिलाओं के प्राइवेट पार्ट में एक ऐसी जगह होती है, जहां सबसे ज्यादा सेंसिटिविटी होती है। इसे सहलाने से महिलाओं को सेक्स के दौरान चरम सुख का आनंद मिलता है। यह महिलाओं के गुप्त अंग की दीवार के ऊपरी हिस्से में करीब डेढ़ या दो इंच की गहराई पर होता है। वहां अगर आगे-पीछे या दाएं-बाएं अंगुली घुमाएंगे तो आसानी से 'जी-स्पॉट' का पता चल जाता है, क्योंकि उस जगह अंगुली के स्पर्श से कुछ स्त्रियों को ज्यादा ही उत्तेजना का अहसास होने लगता है। 

उत्तेजना बढ़ने पर यह 'जी-स्पॉट' (G-Spot) एक छोटी-सी गांठ की तरह फूल कर थोड़ी कठोर भी हो जाती है। जी-स्पॉट के साथ-साथ अगर क्लायटोरिस को भी सहलाया जाए तो स्त्री को ज्यादा आनंद और उत्तेजना का अहसास होता है। कहा जाता है कि सेक्स के दौरान क्लाइमेक्स के वक्त स्त्रियां पुरुषों की तरह स्खलित नहीं होतीं। चरम-सीमा के वक्त उनको यह अहसास होता है कि 'बस अब और नहीं'। साथ-ही-साथ ज्यादातर स्त्रियों को प्राइवेट पार्ट में क्रियात्मक सिकुड़न (Rhythmic Contraction) का भी अहसास होता है। 

आखिर क्या है जी-स्पॉट - About G-Spot in Hindi

जी-स्पॉट योनि के भीतर का एक बेहद संवेदनशील हिस्सा है। जो क्लिटोरिस (Clitoris) की ही तरह ही होता है और टिश्यू से निर्मित होता है। वैसे ये छोटे सिक्के के आकर का होता है लेकिन स्पर्श मात्र की संवेदना से ही इसका आकार बढ़ जाता है। इसे छूने से महिलाओं को शारीरक उत्तेजना तो होती ही है, साथ ही उत्तेजना के कारण स्त्रियां स्खलित भी हो जाती हैं। लेकिन मर्द इस भ्रम में नहीं रहे कि सिर्फ छूने भर से औरत स्खलित हो जाएगी। यह कोई चमत्कार नहीं है।

औरतों को चरमसुख देने में समय लगता है, और थोड़ा अभ्यास भी। ये समझने के लिए की इसे सहलाने का सही तरीका क्या है। जिस तरह आप क्लिटोरिस (Clitoris) को सहलाते हैं ठीक उसी तरह जी-स्पॉट को भी सहलाइए। जैसे क्लिटोरिस के सहलाने से स्त्री को आनंद मिलता है ठीक उसी तरह जी-स्पॉट को भी सहलाने से भी वे काफी उत्तेजित होती हैं। हालांकि कुछ ही लोग इसे ढूंढ पाते हैं। 

कैसे खोजें जी-स्पॉट - How to Find G-spot in Hindi

यदि आप जी-स्पॉट को ढूंढ़ना चाहते हैं तो यह महिलाओं (G-Spot in Women) के गुप्त अंग में एक से तीन इंच अंदर मिलेगा। औरतें इसे आसानी से खुद भी खोज सकती हैं। इसके लिए उन्हें आराम से लेट जाना चाहिए और गहरी सांस लेनी चाहिए। फिर हथेली का रुख ऊपर करके धीरे से अपनी ऊंगली गुप्त अंग के भीतर डालनी चाहिए, करीब एक ऊंगली की लम्बाई जितना अंदर। गुप्त अंग की अंदरी दीवार को दबाकर महसूस करके देखना चाहिए, यदि आपको एक स्पंजी हिस्सा महसूस होता है तो आप सही जगह पर हैं। उसे थोडा सहलाने, दबाने और गुदगुदाने पर आप पाएंगी कि आपकी उत्तेजना बढ़ रही है। जब आपने अपने इस स्पॉट को तलाश लिया हो तो आप अपने पार्टनर को भी इसका पता बता सकती हैं। फोरेप्ले के दौरान सही जगह तक उनकी ऊंगली को पहुंचने में उनकी मदद कर सकती हैं। आप सेक्स के दौरान भी अपने जी स्पॉट (G Spot) को उत्तेजित कर सकती हैं। इसके लिए जब आप ऊपर हों तो अपने शरीर को थोडा पीछे के तरफ झुका लें ताकि लिंग स्वतः आपकी योनि के आगे वाले उस हिस्से को छुएगा जहां जी-स्पॉट स्थित है। 

पुरुषों में भी होता है जी-स्पॉट - G-spot in Male in Hindi

महिलाओं का जी स्‍पॉट हमेशा से ही चर्चा में रहता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं पुरुषों का भी जी स्‍पॉट (G Spot Location in Men) होता है। पुरुषों में प्रोस्टेट ग्लैंड्स को जी स्‍पॉट के रूप में जाना जाता है। दरअसल पुरुषों में पाए जाने वाला प्रोस्टेट ग्लैंड्स (Prostate Gland) को प्रजनन के लिए जाना जाता है। यह ग्लैंड ऐसे फ्लुइड्स को निकालता है जो स्पर्म को उनके गुप्त अंग से बाहर होने के बाद तैरने में मदद करता है। कई बार इसे पुरुष जी स्पॉट के रूप में भी जाना जाता है। मूत्र मार्ग पर स्थित अंडकोष पुरुषों का जी-स्पॉट होता है, जिसे उत्तेजित किया जा सकता है