सेक्स के दौरान दर्द का उपचार - Remedies For Pain During Sex in Hindi
गर्भावस्था

सेक्स के दौरान दर्द का उपचार - Remedies For Pain During Sex in Hindi

Health Raftaar

सेक्स सभी के लिए एक सुखद अनुभव नहीं होता है। पहली बार किया गया सेक्स अकसर पीड़ादायक होता है। यह आम बात है लेकिन अगर एक से अधिक बार सेक्स करने के बाद भी यह दर्द (Pain During Sex) जारी रहे तो यह चिंता का विषय हो सकता है। कई बार इंटरकोर्स के दौरान महिलाओं और पुरुषों दोनों को दर्द होता है। ऐसे में यह जानना जरूरी है कि इंटरकोर्स के दौरान दर्द होता क्यों है?

सेक्स के दौरान दर्द क्यों होता है - Reason for Pain During Sex

पहली बार सेक्स के दौरान दर्द होना आम बात है। पहली बार इंटरकोर्स के दौरान महिलाओं की झिल्ली (Hymen) के फ़टने के कारण महिलाओं के निचले हिस्से (Vaginal Pain During Sex) में दर्द होता है। वहीं पुरुषों के प्राइवेट पार्ट की स्किन के खिंचने के कारण होता है।

साथ ही पहली बार सेक्स के समय तनाव या टेंशन के कारण निचले हिस्से में सूखेपन के कारण भी दर्द भी होता है। इसके अतिरिक्त महिलाओं को वजाइना में सूजन होना, गर्भनिरोधक गोलियां लेने से या किसी बीमारी के कारण भी यह दर्द (Pain During Sex) हो सकता है। पुरुषों को सेक्स के दौरन अगर प्राइवेट पार्ट में दर्द होता है जो इसका कारण कोई इंफेक्शन या बीमारी हो सकती है। आइए जानें कुछ ऐसे तरीके जिनसे सेक्स के दौरान होने वाले दर्द को कम किया जा सकता है।

सेक्स के दौरान दर्द का उपचार - Remedies for Pain During Sex in Hindi

फोरप्ले करें - Foreplay Before Intercourse

इंटरकोर्स से पहले फोरप्ले करना सेक्स के दौरान (Foreplay During Sex) होने वाले दर्द को कम करने में मददगार होता है। अगर दर्द होता है तो यह जरूरी है कि पेनीट्रेशन धीरे-धीरे किया जाए।

लुब्रिक़ेंट्स का इस्तेमाल करें - Use lubricant

सेक्स के दौरान दर्द की एक मुख्य वजह सूखेपन को माना जाता है। इसके लिए सेक्स के दौरान लुब्रिकेट्स (Lubricant) का इस्तेमाल करना चाहिए। लुब्रिकेंट्स का इस्तेमाल कर पेनीट्रेशन के दौरान होने वाले दर्द (Pain During Penetration) को कम किया जा सकता है। प्राइवेट पार्ट्स को साफ रखें (Clean Gentiles)प्राइवेट पार्ट्स को साफ रखना बेहद जरूरी है। इससे इंफेक्शन और एसटीडी रोगों से बचा जा सकता है।

माहौल बनाएं, भावनात्मक सुरक्षा प्रदान करें - Give Emotional Support

कई बार महिलाओं के मन में इंटरकोर्स के प्रति डर रहता है। इस डर के कारण सेक्स के दौरान प्राइवेट पार्ट में जो गीलापन होना चाहिए वह नहीं हो पाता। इस समस्या से निपटने का सबसे आसान तरीका है डर पर काबू पाना। अपने पार्टनर को इस डर से लड़ने में मदद करनी चाहिए। बातचीत करें और उनका सहयोग दें।
अगर इंटरकोर्स में अधिक दर्द होता है तो इसके विकल्प के तौर पर ओरल सेक्स, मसाज या साथ नहाने जैसी क्रियाओं का आनंद लिया जा सकता है।

उपरोक्त टिप्स (Sex Tips in Hindi) के अतिरिक्त अगर इंटरकोर्स के दौरान दर्द रहता है तो डॉक्टर से अवश्य सलाह लेनी चाहिए। कई बार यह दर्द अंदरुनी सूजन या किसी गंभीर चोट के कारण भी हो सकता है। इसलिए सेक्स समस्याओं को नजरअंदाज करने की जगह डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।