गर्भावस्था में पहले तीन महीनों के आहार - First trimester diet for pregnancy in Hindi
गर्भावस्था

गर्भावस्था में पहले तीन महीनों के आहार - First trimester diet for pregnancy in Hindi

Health Raftaar

हर माँ चाहती है कि स्वस्थ बच्चे को जन्म दे। लेकिन इसके लिए माँ के सही खानपान का होना बेहद जरूरी है। बच्चे को पोषण उसी आहार से मिलता है जिसे माँ खाती है।

शुरू के तीन महीने (First Trimester) जब भ्रूण बन रहा होता है तो उसके सही विकास के लिए फोलेट (Folate of Folic Acid) से भरपूर भोजन करना चाहिए जो बच्चे के नर्वस सिस्टम के विकास के लिए जरूरी है। फोलेट रिलेटेड फूड में विटामिन बी6 भी होता है जो कि शुरू में होने वाली मॉर्निंग सिकनेस से भी राहत देता है। क्योंकि इस समय आपका ब्लड वॉल्यूम भी बढ़ता है इसलिए आयरन भी जरूरी है।

इसके साथ ही गर्भावस्था के पहले तीन महीनों के दौरान माँ और बच्चे दोनो की हड्डियों और दांतों के लिए कैल्शियम भी बेहद आवश्यक है।

पहले तीन महीनों के दौरान क्या खाएं - What to Eat in First Trimester of Pregnancy in Hindi

  • हाई प्रोटीन मील खाएं, जिसमें लीन मीट, हरी सब्जियां, बीन्स आदि शामिल हों।
  • काम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट खाना खाएं जिसमें रोटी, आलू, चावल (व्हॉल ग्रेन) आदि शामिल हो।
  • फ्रूट और फ्रूट जूस को दिनचर्या में शामिल करें। इससे मॉर्निंग सिकनेस में आराम मिलेगा।
  • सूप और अन्य पेय पदार्थ जैसे लस्सी आदि को खाने के अंतराल पर पीते रहें।
  • तेज मसालेदार खाने से बचें और सीजनल सब्जियां और फल खाएं।
  • डेरी प्रोडक्ट को जरूर शामिल करें जिनमे दूध, दही, पनीर आदि शामिल हैं।
  • रोज सुबह की शुरुवात सेब या केला आदि फल खाकर करें।
  • पानी खूब पियें। फस्र्ट ट्राइमेस्टर में कब्ज की दिक्कत होती है जिससे बचने के लिए ज्यादा मात्रा में पानी पीयें।

जरूर खाएं - Foods in Pregnancy in Hindi

केला - Banana

केला में विटामिन बी6 भरपूर होता है जो कि मॉर्निंग सिकनेस से बचाता है। इसके साथ ही इसमें फाइबर, विटामिन सी और पोटैसियम भी उच्च मात्रा में होते हैं।

पालक - Spinach

पालक में फोलेट होता है। अर्ली प्रेगनेंसी में फोलेट जरूरी तत्व है जो कि मानसिक बिमारियों एवं विकारों से बचाता है। पालक में फाइबर, मैंगनीज़, आयरन, विटामिन ए, सी, एन और के भी होता है।

बीन्स - Beans

बीन्स प्रोटीन और फाइबर का स्त्रोत है। यह कब्ज से भी बचाती है। इसमें आयरन और फोलेट भी उच्च मात्रा में मौजूद होते हैं।

दूध - Milk

दूध का सेवन भी बेहद जरूरी है। कैल्शियम की कमी पूरी होती है साथ ही कई जरूरी पोषक तत्व दूध से ही मिल जाते हैं।

बिलकुल ना खाएं - Food to Avoid in Pregnancy in Hindi

  • पपीता को शुरू के तीन महीने अवॉयड करना चाहिए। इसमें मौजूद पपेन पेट साफ़ करने में सहायक है लेकिन मिसकैरिज भी हो सकता है।
  • सी-फूड खाने से बचें। इस तरह के खाने में मरकरी हाई लेवल में होती है जो नुकसानदायक है।
  • अधपका या कच्चा खाना खाने से बचें, खासकर अंडे और मीट।