सेक्स से जुड़े सच, झूठ और भ्रम - Facts and myths about sex in Hindi
गर्भावस्था

सेक्स से जुड़े सच, झूठ और भ्रम - Facts and myths about sex in Hindi

Health Raftaar

सेक्स को लेकर अकसर लोगों के मन कई प्रकार के वहम या शंका (Myths) रहती है। इनके कारण लोग सेक्स समस्याओं से परेशान होते हैं तो कई इस वजह से नीम-हकीम तक के चक्कर लगाते हैं। आइए जानें कुछ ऐसे सेक्स मिथ (Top 5 Sex Myths in Hindi) जिनके बारे में आपको जानकारी होना बेहद जरूरी है।

टॉप 5 सेक्स मिथ - Top 5 Sex Myths in Hindi

पीरियड्स के दौरान सेक्स सेफ है - Sex is safe during menstruating

अकसर लोग सोचते हैं कि पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से प्रेगनेंसी नहीं होगी लेकिन यह गलत है। डॉक्टर्स के अनुसार बिना प्रोटेक्शन के पीरियड्स के दौरान भी सेक्स करना हानिकारक हो सकता है। इससे ना सिर्फ महिला प्रेग्नेंट हो सकती है बल्कि एसटीडी या इंफेक्‍शन आदि का शिकार होने के भी आसार होते हैं।

ओरल सेक्स या एनल सेक्स है सुरक्षित? - Anal sex and oral sex are safe

कई लोग मानते हैं कि ओरल सेक्स या एनल सेक्स करने से एसटीडी रोगों या प्रेगनेंसी से 100% बचा जा सकता है। ओरल या एनल सेक्स से प्रेगनेंसी से काफी हद तक बचा जा सकता है लेकिन विशेषज्ञों के अनुसार अगर मेल स्पर्म पुरुष या स्त्री के हाथों से होकर महिला के प्राइवेट पार्ट में पहुंच जाए तो एक प्रतिशत चांस है कि प्रेगनेंसी हो भी जाए। तो अगली बार एनल या ओरल सेक्स करते समय उँगलियों का ध्यान रखें।
लेकिन हां ओरल सेक्स में अगर स्पर्म मुंह के रास्ते महिला के शरीर में पहुंचे तो इससे किसी प्रकार की समस्या नहीं होती और ना ही इससे प्रेगनेंसी होती है। 

पुल आउट या विदड्रा मैथेड से नहीं होती प्रेगनेंसी - Withdraws Method is Safe

\यह एक बहुत बड़ी गलतफहमी है कि विदड्रा मैथेड यानि पुल आउट तरीका अपनाने से प्रेगनेंट होने से सौ फीसदी बचा जा सकता है। कई बार पुरुषों के प्राइवेट पार्ट पर डिस्चार्ज होने से पहले प्री-कम (Pre-ejaculatory) में भी स्पर्म होते हैं जिनसे प्रेगनेंसी हो सकती है और यह जरूरी नहीं है कि हर बार पुरुष डिस्चार्ज होने पर काबू पा ही लें!

कंडोम को लेकर भ्रम? - Condoms

कंडोम को लेकर कई प्रकार की भ्रांतियां हैं जैसे इसके प्रयोग से मजा कम हो जाता है, यह अंदर रह जाएगा, धोकर रि-यूज किया जा सकता है आदि। सबसे पहले तो यह कि कंडोम के प्रयोग से किसी प्रकार का मजा कम नहीं होता है, यह मात्र भ्रम है।
दूसरा यह एक कोरा भ्रम है कि कंडोम को रि-यूज किया जा सकता है। कंडोम केवल एक बार प्रयोग के लिए बने होते हैं, इन्हें रि-यूज नहीं करना चाहिए।

इसके अतिरिक्त भी लोगों को कई भ्रम रहते हैं जैसे हस्तमैथुन से आंखों की कमजोरी होती है, गर्भावस्‍था के दौरान सेक्‍स नहीं करना चाहिए, मीनोपॉज के बाद महिलाओं की सेक्‍स लाइफ समाप्‍त हो जाती है आदि। यह सभी तथ्य केवल भ्रम (Sex Myths in Hindi) हैं।

Raftaar
women.raftaar.in