चरम सुख - Charam sukh in Hindi
गर्भावस्था

चरम सुख - Charam sukh in Hindi

Health Raftaar

चरमसुख उस स्थिति को कहा जाता है जब संभोग में संतुष्टि प्राप्त हो। महिलाओं और पुरूषों में चरमसुख अलग-अलग होता है। महिला की तुलना में पुरूष का चरमसुख बहुत कम समय का होता है और यह जल्दी आ जाता है जबकि महिलाओं (Charam-sukh in Female) को उस स्टेज तक पहुंचने में थोड़ा अधिक समय लगता है। एक बेहतर ऑर्गेज्म ना सिर्फ संभोग के लिए बेहतर है बल्कि यह शरीर के लिए भी फायदेमंद होता है। आइए जानें कुछ ऐसे टिप्स (Sambhog Tips in Hindi) जिनसे चरमसुख पाया जा सकता है।

ऑर्गेज्म पाने के लिए संभोग टिप्स - Sambhog Tips for Better Charam-sukh in Hindi

कुछ नया करें - Do Something New

अगर आपकी संभोग लाइफ (Tips for Sambhog Life) अच्छी नहीं चल रही या आप चाह कर भी संभोग के दौरान चरम सुख तक नहीं पहुंच पा रहे हैं तो कुछ नया ट्राई करें। एक नई संभोग पॉजिशन या संभोग से पहले की गई बातचीत आपकी परेशानी दूर करने में सहायक हो सकती है।

फोरप्ले करें - Do Foreplay

संभोग के दौरान क्लाइमेक्स तक या चरमसुख तक पहुंचने के लिए फोरप्ले का अहम योगदान होता है। किसिंग, सहलाने या किसी अन्य हरकत से अपने साथी को काफी देर तक उत्तेजित करने से चरमसुख तक पहुंचने में आसानी मिलती है।

वीक प्वाइंट्स को समझें - Hit their Weak Point

हर इंसान के कुछ वीक प्वाइंट्स होते हैं जिन्हें पहचान कर आप अपने साथी को चरमसुख तक पहुंचाने में मदद कर सकते हैं। अकसर माना जाता है कि महिलाओं की ब्रेस्ट, मॉन्स (जननांग के आस-पास का एरिया), गर्दन, होंठ या कान के पीछे का हिस्सा संभोग के नजरिए से वीक प्वाइंट माना जाता है। वहीं पुरुषों के मामले में पीठ, गर्दन और प्राइवेट पार्ट्स के निचले हिस्से को अधिक सेंसिटिव माना जाता है।

टेंशन को दूर रखें - Say no Tense

अब मन में किसी बात की चिंता हो और आप चाहे की शरीर चरमसुख प्राप्त कर ले, यह तो मुमकिन नहीं। इसलिए संभोग के दौरान एकाग्र होकर उन पलों का आनंद लें।

महिलाएं भी कभी करें पहल - Support of Women

संभोग में महिलाओं के पहल और उनके सहयोग से चरमसुख तक पहुंचने में मदद मिलती है। वूमेन ऑन टॉप वाली कोई भी संभोग पॉजिशन महिलाओं को चरम-सीमा तक पहुंचने में अधिक सहायक होती है। इस पॉजिशन में पुरुषों को भी अधिक आनंद लेने का मौका मिलता है।

उपरोक्त टिप्स के साथ इस बात का भी ख्याल रखना चाहिए कि जहां आप संभोग कर रहे हैं वहां का तापमान ज्यादा ठंडा ना हो, सामान्य तापमान में ऑर्गेज्म प्राप्त करने की दर अधिक होती है। कई बार दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण भी चरमसुख तक पहुंचने में समस्या होती है जैसे डिप्रेशन आदि की दवाएं। अगर आपको कई तरीके अपनाकर भी चरमसुख तक पहुंचने में समस्या हो रही हो तो डॉक्टर से सलाह अवश्य लेनी चाहिए।