रोजाना सेक्स करने के फायदे और नुकसान - Benefits and side effects of regular sex in Hindi
गर्भावस्था

रोजाना सेक्स करने के फायदे और नुकसान - Benefits and side effects of regular sex in Hindi

Health Raftaar

सेक्स को लेकर हमारे मन में जो चिंताएं होती हैं उनमें से एक सबसे अहम है कि हमें सेक्स कितनी बार करना चाहिए या क्या प्रतिदिन सेक्स करने से नुकसान होता है? 

इस सवाल को समझने के लिए पहले यह जानना जरूरी है कि सेक्स भी एक प्रकार की शारीरिक क्रिया है। इसमें आपका शरीर थकता है। यह एक एक्सरसाइज की तरह है जिसे अगर जरूरत से ज्यादा किया तो शरीर थक भी सकता है लेकिन इसको नियमित रूप से करना भी आवश्यक है। आइए जानें प्रतिदिन सेक्स करने के नुकसान और फायदों के बारें में। 

रेग्यूलर सेक्स के नुकसान - Cons of Regular Sex

  • हार्मोनल समस्याएं होने की संभावना (Harmonal Disorder)
  • अधिक थकान होना (Fatigue)
  • मूत्र मार्ग संक्रमण होने की संभावना (Urinary Tract Infection or UTI)
  • अधिक समय तक सक्रिय रहने में समस्या 
  • गुप्तांगों में दर्द (Genital pain)
  • पर्सनेलिटी डिसॉर्डर (Personality disorders) 

उपरोक्त बिन्दूओं के साथ यह भी जानना आवश्यक है कि रेगुलर सेक्स के कई फायदे (Benefits of Regular Sex) भी होते हैं। यह फायदे निम्न हैं। 

रेग्यूलर सेक्स के फायदे - Pros of Regular Sex

  • तनाव कम करे (Sex Reduces Stress)
  • असरदार एक्सरसाइज (Sex is a good exercise)
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए (Strengthen the immune system)
  • बीपी कंट्रोल के लिए कारगर (Effective for BP control)
  • दिल को रखता है तंदुरुस्त (Keeps heart healthy)
  • नेचुरल पेन किलर (Sex Helps Pain Relief)
  • प्रोस्टेट कैंसर की संभावना कम (Keep away from Prostate Cancer)
  • अच्छी नींद के लिए फायदेमंद (Beneficial for Good Sleep)
  • चेहरे पर लाए एक नई चमक (Bring a new shine on the face)
  • रिश्तों में नजदीकी लाने में सहायक (Bring you closer to your partner)
  • पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द से आराम (Relief from pain during periods)
  • आत्मविश्वास बढ़ाता है सेक्स (Sex improves confidence)

प्रतिदिन सेक्स के फायदे और नुकसान (Pros and Cons of Regular Sex) को जानने के बाद यह जानना भी जरूरी है कि नियमित रूप से सेक्स करने का तात्पर्य प्रतिदिन इंटरकोर्स से नहीं है। हर दिन इंटरकोर्स की जगह सेक्स के विभिन्न रूपों जैसे ओरल सेक्स, किसिंग या फोरप्ले आदि का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। सेक्स को बोरिंग बनाने से बेहतर है उसे थोड़ा इंजॉय किया जाए। अगर पार्टनर का मूड ना हो तो सेक्स नहीं करना चाहिए। पीरियड्स या किसी मानसिक तनाव की स्थिति में पार्टनर को समझना चाहिए।

Raftaar
women.raftaar.in