वजन बढ़ाने और मोटा होने के लिए व्यायाम - Exercises for weight gain in Hindi
व्यायाम

वजन बढ़ाने और मोटा होने के लिए व्यायाम - Exercises for weight gain in Hindi

Health Raftaar

व्यायाम करना हमारे शरीर के लिए कितना फायदेमंद होता है यह तो हम सभी जानते ही हैं। लेकिन आपको यह भी जानना जरूरी है कि व्यायाम ना केवल वजन कम करने का काम करते हैं बल्कि वह आपका वजन बढ़ाने में भी सहायक होते हैं।

एनारोबिक एक्सरसाइज (Anaerobic Exercise

एनारोबिक एक्सरसाइज में ऑक्सीजन को शरीर के अंदर ही रोक कर रखते हैं जिससे मांसपेशियों को अधिक से अधिक मात्रा में ऑक्सीजन मिल सके। जिम में वजन उठाकर किए जाने वाले व्यायाम या दंड बैठक, स्वीमिंग, पुश अप्स आदि ऐसे कुछ व्यायाम हैं। वजन बढ़ाने के लिए एनारोबिक एक्सरसाइज करने की ही सलाह दी जाती है। तेज दौड़ना, साइकिलिंग, डांसिंग जैसे व्यायाम एरोबिक्स के अंतर्गत आते हैं, वजन बढ़ाने के लिए इन एक्सरसाइज से बचना चाहिए।

वजन बढ़ाने वाले कुछ व्यायाम - Weight Gain Exercise in Hindi

पुश अप्स - Push Up

जॉगिंग या रनिंग की तरह पुश अप्स भी एक मल्टी स्पेशलिस्ट एक्सरसाइज है। इससे छाती, कंधे और हाथों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।

स्कवैट्स - Squats

स्कवैट्स करने से जांघों की मांशपेशियों पर जोर पड़ता है और यह मजबूत होती है। इसे करने के लिए सीधे खड़े होकर हाथों को आगे कीजिए फिर नीचे झुकिए। झुकते समय भी हाथ आगे की तरफ होने चाहिए। स्क्वैट्स करते समय आप डंबल्स या कंधों पर वजन भी रख सकते हैं।

डेड लिफ्ट - Dead Lifts

जिम जाने वाले लोगों के लिए डेड लिफ्ट एक बेहतरीन एक्सरसाइज है। इसमें आपको नीचे झुककर बार को कमर की हाइट तक उठाना होता है। इस व्यायाम से हिप्स, कमर, हाथों आदि की बढ़िया कसरत होती है। 
 
बेंच प्रेस - Bench Press

छाती की मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए यह बेंच प्रेस एक बेहतरीन एक्सरसाइज मानी जाती है। बेंच प्रेस के लिए बेंच पर पीठ के बल लेटें और दोनों हाथों से बार्बेल या रॉड पकड़ें। 12 से 15 बार इसे उठाएं और नीचे लाएं। इससे सीने की मांसपेशियां मजबूत होंगी और सीना चौड़ा होगा। अगर आप रॉड ना पकड़ना चाहें तो हल्के डंब्लस (Dumbbells) भी ले सकते हैं। 

ट्राइसेप्स डिप्स - Triceps Dips

हाथों, कोहनियों आदि की मसल्स को मजबूत बनाना हो तो ट्राइसेप्स डिप्स अच्‍छा विकल्‍प है। इसमें दोनों हाथों को शरीर के पीछे की तरफ रखकर पैरों को कुर्सी के सामने थोड़ी दूरी पर रखते हुए कुर्सी के किनारे पर बैठें। पैरों को सीधे रखकर कुर्सी को घुमाएं ताकि आप शरीर को भुजाओं से नियंत्रित कर सकें और धीरे-धीरे कोहनी को 90 डिग्री कोण पर ले जाएं।

उपरोक्त व्यायामों (Exercises for Weight Gain) के साथ प्लैंक, पुल अप्स, माउंटेन कलाइंबर, बाईसेप्स कर्ल जैसी एक्सरसाइज भी फायदेमंद होती हैं। सूर्य नमस्कार, सर्वांगासन, श्वासन आदि योग क्रियाएं (Yoga for Weight Gain) भी वजन बढ़ाने में सहायक होती हैं। व्यायामों के साथ हमें वजन बढ़ाने के दौरान हमें निम्न बातों का भी ध्यान रखना चाहिए:

  • वजन बढ़ाने के व्यायाम काफी प्रभावी होते हैं लेकिन हो सकता है कि इनका असर देर से मिले। ऐसे में धैर्य रखना चाहिए और लगातार मेहनत करते रहना चाहिए। 
  • वजन बढ़ाने वाली दवाइयों के कई साइड इफ्केट्स होते हैं। इनका प्रयोग करने से बचना चाहिए। प्रोटीन पाउडर जैसे प्रदार्थ भी डॉक्टर की राय से ही लेने चाहिए। 
  • वजन बढ़ाने के लिए डाइट का सही होना बहुत जरूरी है। दिन में कम से कम पांच या छह बार खाना, केले और अंडे का लगातार सेवन भी बहुत ही जरूरी है। केले, दूध और अंडे का शेक एक नेचुरल प्रोटीन शेक का काम करता है। 
  • वजन बढ़ाने के लिए हाई कैलोरी फूड लेना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए कि टेंशन दूर रहें। टेंशन के कारण वजन बढ़ने में दिक्कत आ सकती है।