इन तरीकों से शुरू करें अपना फिटनेस रूटीन - how to set up a daily health routine
व्यायाम

इन तरीकों से शुरू करें अपना फिटनेस रूटीन - how to set up a daily health routine

Health Raftaar

  • सुबह उठते ही सबसे पहले हल्का गर्म पानी पिये, 2 से 3 गिलास जरूर पिये।

  • पानी हमेशा बैठ कर पिये।

  • पानी हमेशा घूट घूट करके पिये।

  • घूट घूट कर इसलिए पीना है ! ताकि सुबह की जो मुंह की लार है इसमे ओषधिए गुण बहुत है ! ये लार पेट मे जानी चाहिए ! वो तभी संभव है जब आप पानी बिलकुल घूट घूट कर मुंह मे घूमा कर पिएंगे।

  • इसके बाद दूसरा काम पेट साफ करने का है ! रोज पानी पीकर सुबह शोचालय जरूर जाये। पेट का सही ढंग से साफ न होना 108 बीमारियो की जड़ है।

  • खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीना जहर पीने के बराबर है

  • हमेशा डेड घंटे बाद ही पानी पीएं

खाना खाने के बाद अगर कुछ पी सकते हैं उसमे तीन चीजे आती हैं

  • जूस

  • छाज (लस्सी) या दहीं

  • दूध

सुबह खाने के बाद अगर कुछ पीना है तो हमेशा जूस पिये। दोपहर को दहीं खाये या लस्सी पिये और दूध हमेशा रात को पिये। इन तीनों के क्रम को कभी उल्टा न करे। फल सुबह ही खाएं ज्यादा से ज्यादा दोपहर 1 बजे तक दहीं दोपहर को दूध रात को।

इसके इलावा खाने के तेल मे भूल कर भी refine oil का प्रयोग मत करे। वो चाहे किसी भी कंपनी का क्यू न हो dalda ,ruchi,gagan) को भी हो सकता है। अभी के अभी घर से निकाल दें। बहुत ही घातक है। सरसों के तेल का प्रयोग करे ! या देशी गाय के दूध का शुद्ध घी खाएं। पतंजलि का सरसों का तेल एक दम शुद्ध है। शुद्ध सरसों के तेल की पहचान है मुंह पर लगाते ही एक दम जलेगा ! और खाना बनाते समय आंखो मे हल्की जलन होगी।

चीनी का प्रयोग तुरंत बंद कर दीजिये। गुड खाना का प्रयोग करे या शक्कर खाये। चीनी बहुत बीमारियो की जड़ है। खाने बनाने मे हमेशा सेंधा नमक या काला नमक का ही प्रयोग करे। आयोडिन युक्त नमक कभी न खाएं।

ये नमक वाली बात आपको अजीब लग सकती हैं। लेकिन बहुत रहस्यमय कहानी है इस आओडीन युकत नमक के पीछे बाद मे विस्तार से बताई जाएगी। सुबह का भोजन सूर्य उद्य ! होने के 2 से 3 घंटे तक कर लीजिये। अगर 7 बजे आपके शहर मे सूर्य निकलता है। तो 9 या 10 बजे तक सुबह का भोजन कर लीजिये। इस दौरान जठर अग्नि सबसे तेज होती है। सुबह का खाना हमेशा भर पेट खाएं। सुबह के खाने मे पेट से ज्यादा मन संतुष्टि होना जरूरी है। इसलिए अपनी मनपसंद वस्तु सुबह खाएं।

खाना खाने के तुरंत बाद ठीक 20 मिनट के लिए बायीं लेट जाएँ और अगर शरीर मे आलस्य ज्यादा है तो 40 मिनट मिनट आराम करे। लेकिन इससे ज्यादा नहीं ! इसी प्रकार दोपहर को खाना खाने के तुरंत बाद ठीक 20 मिनट के लिए बायीं लेट जाएँ और अगर शरीर मे आलस्य ज्यादा है तो 40 मिनट मिनट आराम करे। लेकिन इससे ज्यादा नहीं।

रात को खाना खाने के तुरंत बाद नहीं सोना।रात को खाना खाने के बाद बाहर सैर करने जाएँ। कम से कम 500 कदम सैर करे। और रात को खाना खाने के कम स कम 2 घंटे बाद ही सोएँ। ब्रह्मचारी है विवाह के बंधन मे नहीं बंधे तो हमेशा सिर पूर्व दिशा की और करके सोएँ। ब्रह्मचारी नहीं है तो हमेशा सिर दक्षिण की तरफ करके सोएँ। उत्तर और पश्चिम की तरफ कभी सिर मत करके सोएँ।

मैदे से बनी चीजे पीज़ा ,बर्गर ,hotdog,पूलड़ोग , आदि न खाएं ! ये सब मेदे को सड़ा कर बनती है। कब्ज का बहुत बड़ा कारण है। और ऊपर आपने पढ़ा कब्ज से 108 रोग आते हैं इन सब नियमो का अगर पूरी ईमानदारी से प्रयोग करेंग 1 से 2 महीने मे ऐसा लगेगा पूरी जिंदगी बदल गई है मोटापा है तो कम हो जाएगा। BP,cholesterol, triglycerides,सब level पर आना शुरू हो जाएगा। HDL बढ्ने लगेगा। LDL ,VLDL कम होने लगेगा। और भी बहुत से बदलाव आप देखेंगे ।

Raftaar
women.raftaar.in