धूप से जली त्वचा (धूप की कालिमा) - Sunburn in Hindi
रोग जानें

धूप से जली त्वचा (धूप की कालिमा) - Sunburn in Hindi

Health Raftaar

सनबर्न या धूप से झुलसना - Sunburn in Hindi

धूप के कारण त्वचा का प्रभावित होना आम बात है। कोई भी व्यक्ति यदि धूप में ज्यादा देर रहता है तो सूर्य की किरणों उसकी त्वचा (Skin) को नुकसान (Damage) पहुंचा सकती हैं। यदि तेज धूप की वजह से त्वचा ज्यादा जल या झुलस जाए तो यह स्थिति सनबर्न (Sunburn) कहलाती है।

धूप की अल्ट्रावॉयलेट किरणें (Ultra Violet Rays) त्वचा में उपस्थित मैलेनिन (Melanin) तत्व नष्ट कर देती हैं, जिसके कारण झुलसा हुआ हिस्सा काला या गहरा भूरा पड़ जाता है। कई बार यह त्वचा के कैंसर (Skin Cancer) का कारण भी हो सकता है। इसके कारण त्वचा से संबंधित कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं और त्वचा रूखी बेजान होने लगती है। धूप का असर केवल त्वचा ही नहीं बल्कि बालों या हर उस हिस्से को प्रभावित करता है जो धूप के हिस्से में सीधे तौर पर आता है। धूप के लगातार संपर्क में रहने पर त्वचा उम्र से पहले ही बूढ़ी और बेजान नजर आने लगती है।

सनबर्न के लक्षण - Sunburn Symptoms in Hindi

  • छोटे छोटे छाले या पानी वाले दाने भी हो सकते हैं।
  • त्वचा पर परमानेंट फर्क आया है इसका पता 24 घंटे के अंदर देखा जा सकता है।
  • त्वचा रूखी तथा बेजान नजर आती है।
  • धूप से आने के बाद तुरंत त्वचा के फर्क को देखा जा सकता है।
  • प्रभवित हिस्सा गहरा लाल, काला या गहरा भूरा नजर आता है।
  • प्रभावित जगह पर सूजन भी आ सकती है।
  • प्रभावित हिस्सा छूने पर गर्म लगता है।
  • प्रभावित हिस्से पर जलन और दर्द महसूस हो सकता है।
  • बुखार के साथ उल्टी भी लग सकती है।

सनबर्न के कारण - Sunburn Causes in Hindi

सूरज की अल्ट्रावॉयलेट किरणों के सीधे तौर पर संपर्क में आने पर सनबर्न होता है। शरीर प्राकृतिक रूप से मैलेनिन (Natural melanin) का निर्माण करके खुद को सूरज की किरणों के प्रकोप से बचाता है। मैलेनिन एक रंजक यानि पिगमेंट (Pigment) होता है जो त्वचा के रंग के लिए जिम्मेदार होता है। काले या सांवले लोगों की त्वचा गोरे रंग के लोगों की अपेक्षा कम डैमेज होती है क्योंकि सांवली त्वचा में पिगमेंट ज्यादा बनता है। गोरे (Fair) लोगों में पिगमेंट कम होता है इसलिए उनकी त्वचा सूर्य के संपर्क में आने पर जल्दी क्षतिग्रस्त होती है। इसके अलावा मैदानी इलाकों (Grounded Area) में रहने वाले लोगों की अपेक्षा पहाड़ी इलाकों (Hill Tract) में रहने वाले लोगों की त्वचा भी जल्दी क्षतिग्रस्त (Damage) होती है क्योंकि वहां सूरज मैदान की अपेक्षा नजदीक और तेज होता है।

सनबर्न का उपचार - Sunburn Treatment in Hindi

  • पूरी बाहों के कपड़े पहनें।
  • खीरे, टमाटर और आलू का रस लगाएं।
  • सनबर्न वाले हिस्से पर ठंडी पट्टियां रखें।
  • हर चार घंटे पर सनस्क्रीन लगाएं।
  • धूप में जाने से आधा घंटा पहले सनस्क्रीन का प्रयोग करें।
  • कोशिश करें कि सुबह 10 से शाम 4 के बीच धूप में न जाएं।
  • धूप से झुलसी त्वचा पर एलोवेरा भी बेहद फायदा पहुंचाता है।
  • कॉटन का कपड़ा ठंडे दूध में भिगाकर प्रभावित स्थान पर लगाएं।
  • प्रभावित हिस्से पर ठंडी दही लगाने से भी बहुत आराम मिलता है।
  • धूप में निकलने से पहले खुद को अच्छी तरह से ढककर निकलें, मसलन आंखों पर चश्मा, सिर पर स्कार्फ या कैप पहनें।