नाभि में इन्फेक्शन - Belly Button Infection in Hindi
रोग जानें

नाभि में इन्फेक्शन - Belly Button Infection in Hindi

Health Raftaar

आपकी बॉडी में हर जगह, छोटे-छोटे सूक्ष्मजीव और कवक जीवित रहते हैं और मृत त्वचा कोशिकाओं पर पनपते हैं। ये कवक आपको कोई संक्रमण नहीं देते हैं और न ही किसी तरह की असुविधा का कारण बनते हैं, हालांकि, अगर किसी भी कारण से कवक बढ़ जाते हैं, तो वे एक कवक संक्रमण बनने लगते हैं।

त्वचा पर फंगल संक्रमण आमतौर पर बालों/ या त्वचा की परतों जैसे बगल, स्तनों के नीचे की त्वचा और नाभि पर होता है।

नाभि में इन्फेक्शन दिखने में कैसा होता है?

नाभि फंगल संक्रमण के कारण लाल, खुजली जैसे लक्षण दिखाई देते हैं और एक्जिमा की समस्या भी हो सकती है। नाभि भी सामान्य रूप से लाल हो सकती है और इसमें काफी दर्द महसूस हो सकता है। स्किन फंगल इंफेक्शन भी डैंड्रफ और स्किन सोराइसिस बीमारियों की तरह होता है।

कुछ डिस्चार्ज या स्किन फ्लेक्स नाभि के बाहर अपना रास्ता बनाते हैं, और इनकी वजह से त्वचा क्षेत्र के आसपास इरिटेशन महसूस हो सकती है। लाल, दमकती त्वचा नाभि के चारों ओर फैल सकती है और आसपास की स्वस्थ त्वचा पर स्पष्ट रूप से दिखाई देती है। एक्जिमा जैसी त्वचा में सूजन और खुजली हो सकती है। छोटे छाले जो खुले घावों में विकसित होते हैं, वे भी हो सकते हैं।

लाल त्वचा के साथ-साथ, स्किन निकलने भी लगती है, साथ ही नाभि कवक संक्रमण में गंध के भी लक्षण दिखाई देते हैं। गंध इसलिए आती है क्योंकि नाभि बैक्टीरिया के छुपने का एक बेहतर स्थान है। अगर आप उस जगह को साबुन से नहीं धोते हैं तो वो वहीं जमा रह सकते हैं।

नाभि के इन्फेक्शन से कैसे बचें – Prevention of Belly Button Infection in Hindi

बढ़ती नाभि कवक और त्वचा विकारों के अन्य रूपों का इलाज करने का सबसे अच्छा तरीका उन्हें बढ़ने से रोकना। लेकिन आप ऐसा कैसे कर सकते हैं? चूंकि कवक नम क्षेत्रों में विशेष रूप से पनपता है, इसलिए नाभि को साफ और सूखा रखने पर ध्यान देना विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। आप निम्नलिखित सलाह से नाभि इन्फेक्शन को बढ़ने से रोक सकते हैं –

  • · नाभि को ध्यान से व नरम उँगलियों के साथ साबुन से अच्छे से धोएं। ऐसे साबुन का इस्तेमाल करें जो बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है। नहाते समय रोजाना नाभि को धोएं।

  • · अब नाभि को धोने के बाद उसे गीला न छोड़ें अच्छे से तौलिये से पोछकर सुखाएं। गीला छोड़ने से संक्रमण बढ़ शक्यता है।

  • · पूरे दिन नाभि को टैल्कम पाउडर से ड्राई रखने की कोशिश करें।

  • · स्पोर्ट्स वाले कपड़ों को नियमित रूप से बदलते रहें। ऐसा करने से पसीना बार-बार नाभि पर नहीं लगेगा और नाभि ड्राई रहेगी।

  • · ढीले-ढाले कपड़े पहनें जिससे नाभि को सांस मिल सके।

  • · साथ ही व्यायाम करते समय ऐसे कपड़े पहनें जिनमें आपकी स्किन को सांस मिल सके और पसीना भी सोक लें।

नाभि इन्फेक्शन का इलाज - Belly Button Infection Treatment in Hindi

अगर आपकी नाभि लाल हो गयी है, छाले पड़ने लगे हैं और खुजली जैसी समस्या होने लगी है, साथ ही दुर्गंध भी आने लगती है तो इसे नाभि इन्फेक्शन कहते हैं। हालांकि फंगल इन्फेक्शन अपने आप आसानी से नहीं जाता - इसे आप इलाज से ही ठीक कर सकते हैं। नाभि फंगल इन्फेक्शन में इलाज पूरी तरह से होना चाहिए जिससे कि इन्फेक्शन अच्छे से खत्म हो सके।

आप मेडिकल स्टोर से फंगीसाइडल ऑइंटमेंट और क्रीम ले सकते हैं। कई मामलों में, इनसे फंगल इन्फेक्शन आसानी से चला जाता है लेकिन कुछ मामलों में टेबलेट की भी जरूरत पड़ जाती है।

आपको डॉक्टरी सलाह कब लेनी चाहिए?

यदि फार्मेसी से खरीदी गई मलहम और क्रीम का उपयोग करने के दो सप्ताह बाद लक्षण गायब नहीं होते हैं, या फिर आपको लक्षणों के बारे में कोई संदेह है, तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें। वह संक्रमित त्वचा की बारीकी से जांच कर सकेगा और एक बेहतर निदान देने के लिए स्किन स्क्रेपर की मदद लेगा।