शरीर पर जूं - Body Lice in Hindi

शरीर पर जूं - Body Lice in Hindi

शरीर के जूं छोटे-छोटे कीड़ों की तरह होते हैं, तिल के आकार के। शरीर के जूं आपके कपड़ों, बिस्तर और त्वचा पर रहते हैं जिससे वो आपके शरीर का खून चूस सकें। ये जूं आमतौर पर गर्दन, कंधे, बगल, कमर और जांघों के बीच काटते हैं। इन जगहों पर कपड़े इतने अधिक न चिपके रहने की वजह से इन जूं को खून चूसने व रहने की जगह मिल जाती है।

शरीर की जूं आमतौर पर भीड़भाड़ वाली जगह और गंदगी वाली स्थिति में देखने को मिलती हैं जैसे रिफ्यूजी कैम्पस और बेघर हुए लोगों के लिए बनाई गयी जगह। शरीर के जूं के काटने से कई प्रकार की बीमारियां फैलने का खतरा रहता है और बल्कि ये महामारी का भी कारण बन सकती हैं। ये जूं संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से भी आप तक पहुंच सकती हैं। शरीर के जूं से जो कपड़े और बिस्तर संक्रमित हो जाते हैं उन्हें गर्म पानी में, अच्छे डिटर्जेंट में और अच्छे से सूखकर धूप में डालना चाहिए।

शरीर के जूं के लक्षण – Symptoms of Body Lice in Hindi

शरीर के जूं के काटने से अधिक खुजली हो सकती है और आप अपनी त्वचा पर खून और काटने के छोटे-छोटे निशान भी देख सकते हैं। अगर स्वछता का ध्यान रखें के बाद भी ये समस्या तब भी ठीक हो रही हैं या काटने से स्किन इन्फेक्शन बढ़ रहा है तो अपने डॉक्टर से सम्पर्क जरूर करें।

शरीर की जूं होने के कारण – Causes of Body Lice in Hindi

शरीर की जूं सिर की जूं की तरह समान होती है, लेकिन इनकी आदतें अलग-अलग होती हैं। जैसे सिर की जूं बालों में ही रहती हैं और सिर की त्वचा के जरिये खून चुस्ती है, लेकिन शरीर की जूं कपड़ों और बिस्तर पर भी रहती हैं। यह पूरे दिन में कई बार आपकी स्किन से होते हुए खून चुस्ती हैं।

आपके कपड़े शरीर की जूं के अंडे देने का सबसे आम जगह होती है। आप शरीर के जूँ से संक्रमित हो सकते हैं यदि आप किसी ऐसे व्यक्ति के निकट संपर्क में आते हैं जिसे शरीर के जूँ की समस्या है, या उनके शरीर के जूँ से संक्रमित कपड़ों या बिस्तर से आपका सम्पर्क हुआ हो।

शरीर की जूं का इलाज - Treatment of Body Lice in Hindi

शरीर के जूं का इलाज करने के लिए संक्रमित कपड़ों और बिस्तर को अच्छे से साबुन से और गर्म पानी में साफ करें। फिर कपड़ों को मशीन में सुखाएं और धूप में सुखाने के लिए डाल दें। जो कपड़े धूल नहीं सकते उन्हें आप ड्राय क्लीनिंग और आयरन करके भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर ये तरीके काम नहीं आते हैं, तो आप मेडिकल स्टोर से लोशन या शैम्पू खरीद सकते हैं जैसे निक्स या रीड। अगर तब भी किसी भी तरह का सुधार नजर नहीं आता है, तो आपका डॉक्टर आपको लोशन लिखकर दे सकते हैं। जूं को मारने वाले उत्पाद इंसान के लिए खतरनाक हो सकते हैं, इसलिए इस्तेमाल करने से पहले चेतावनियों को अच्छे से पढ़ लें।

Related Stories

No stories found.