close button
Ayurvedic Treatment For Hair Fall

इन आयुर्वेदिक उपायों से कम होगा बालों का गिरना (Ayurvedic Treatment For Hair Fall)

बालों की देखभाल में आयुर्वेद का काफी महत्व है। बालों की सेहत का खजाना सबसे ज्यादा आयुर्वेद में ही है। बदलती जीवनशैली, प्रदूषित वातावरण, काफी मात्रा में जंक फूड के सेवन आदि की वजह से युवाओं में बाल झड़ने की समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है।

बालों को सबसे ज्यादा नुकसान हेयर डाई, हेयर कलर, जेल और केराटिन हेयर ट्रीटमेंट पहुंचा रहा है। आइए जानते हैं बालों के झड़ने-गिरने को हम कैसे आयुर्वेदिक उपायों के आजमाने से रोक सकते हैं।


भृंगराज (Bhringraj)- भृंगराज को बालों का राजा कहा गया है। भृंगराज को खूब कूट-पीसकर बनाया हुआ चूर्ण और काला तिल दोनों बराबर मात्रा में मिला कर रख लें। रोजाना सूर्योदय के समय इसे खाएं और ताजा पानी पी लें। इससे बालों का गिरना-झड़ना बंद हो जाएगा। बालों की जड़ों को मजबूत रखने के लिए उनमें भृंगराज का तेल भी लगा सकते हैं।

ब्राह्मी (Brahmi)- ब्राह्मी के पत्ते को सुबह ताजे पानी के साथ चबा कर खाएं या फिर इसके पत्ते को पीस कर पेस्ट बनाएं और हेयर पैक की तरह बालों में लगाएं। इसमें दही भी मिला सकते हैं। इसे रोजाना आजमाने से बाल कभी नहीं गिरेंगे।


आंवला (Amla)- एक चम्मच आंवला का चूर्ण दो घूंट पानी के साथ सोते समय खाएं। इससे न तो कभी बाल सफेद होंगे और बालों का गिरना भी बंद होगा। सूखे आंवले के चूर्ण को पानी के साथ मिला कर पेस्ट बनाएं और इसे बालों में लगाएं।

दूसरा उपाय यह है कि 25 ग्राम सूखे आंवले को मोटा-मोटा कूट कर किए हुए टुकड़े को 250 मिली लीटर पानी में रात भर पानी में भीगने के लिए छोड़ दें। सुबह आंवले के फूले हुए टुकड़े को पानी में हाथ से मसलकर अच्छी तरह से मिला लें, फिर पानी को साफ कपड़े से छान लें। अब इस छाने हुए पानी से बालों की जड़ों को मलिए। दस मिनट के बाद बालों को धो डालिए। बाल गिरने और सफेद होने की समस्या धीरे धीरे दूर हो जाएगी।

नीम (Neem)- नीम के पत्तों को सुखाकर चूर्ण बना लें। अब इस चूर्ण को नारियल तेल में मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं। दही में भी नीम का चूर्ण मिलाया जा सकता है। इससे बालों का झड़ना-गिरना बंद हो जाएगा।

रीठा (Reetha)- रात में रीठे के छिलके के छोटे-छोटे टुकड़े करके पानी में भीगने के लिए छोड़ दें। सुबह उन्हें मसलकर उस पानी से सिर धोएं, इससे बालों का गिरना बंद हो जाता है। इसे आजमाने से बाल काले, घने और लंबे भी होते हैं।

अश्वगंधा (Ashwagandha)- शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता कमजोर होने से बालों के झड़ने-गिरने की भी बीमारी होती है। रात में अश्वगंधा के सेवन से न सिर्फ यौवन शक्ति मिलती है बल्कि बालों का झड़ना-गिरना भी बंद होता है।

हर्बल ऑयल से बालों की मसाज (Hair massage)- बालों के झड़ने-गिरने को रोकने के लिए कई सारे हर्बल ऑयल उपयोगी हैं। आप बालों में नारियल तेल, आंवला तेल, ब्राह्मी तेल, बादाम तेल, अरंडी तेल, सरसों तेल और आर्निका तेल से मालिश कर सकते हैं। इससे बालों का झड़ना-गिरना बंद होगा।

Hair Fall, बालों का झड़ना, Hair Loss, Balon Ka Jharna, Ayurvedic Treatment, आयुर्वेद उपचार, Hindi


राशिफल

धर्म

शब्द रसोई से