क्या आप जानते हैं व्रत में क्यों खाया जाता है सेंधा नमक?
डाइट

क्या आप जानते हैं व्रत में क्यों खाया जाता है सेंधा नमक?

Health Raftaar

सेंधा नमक वह गुलाबी नमक है जिसे आप सभी व्रत में खाते हैं। संस्कृत में, यह लोकप्रिय 'साइनदव लवण' के रूप में जाना जाता है। यह रॉक साल्ट का शुद्धतम रूप है। व्रत के खाने के लिए ही नहीं, यह नमक अब वेट लॉस करने वाले लोगों को भी खाते हुए देखा जाने लगा है। चलिए आपको इस लेख में बताते हैं फास्ट के दौरान इस नमक को क्यों खाया जाता है, इसके फायदे क्या हैं और ये क्यों सुरक्षित माना जाता है।

नमक का एक शुद्ध रूप -

रॉक साल्ट या आप कह लें "सेंधा नमक" नमक का एक ऐसा शुद्ध रूप, जिसमें केमिकल नहीं होता और न ही प्रदूषित तत्व होते हैं।

स्वस्थ नमक -

आयुर्वेदा में इसे नमक के रूपों में सबसे स्वस्थ माना जाता है, ये तीनों दोषों को शांत करता है।

केमिकल मुक्त होता है -

साधारण नमक जिसे आप अपने खाने में इस्तेमाल करते हैं, उसे वाष्पीकरण द्वारा बनाया जाता है और आयोडीन युक्त भी होता है। इसे विभिन्न रसायनों के माध्यम से फ़िल्टरिंग की मदद से दूषित पदार्थों को हटाने के लिए संसाधित किया जाता है, जबकि सेंधा नमक सभी प्रकार की केमिकल प्रक्रिया या प्रदूषित चीजों से मुक्त होता है।

खनिजों से भरपूर होता है -

सेंधा नमक खनिजों से भरपूर होता है जैसे आयरन, जिंक, मैग्नीशियम और कॉपर।

स्वास्थ से जुडी समस्याओं का उपाय -

आप कई प्रकार की स्वास्थ समस्याओं में इसे घरेलू उपायों के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे -. गठिया, कीड़े का काटना और बदहजमी में।

रक्त परिसंचरण में मदद करता है -

रोजाना सेंधा नमक खाने से, शरीर में रक्त परिसंचरण सही से होता है और बॉडी से विषाक्त पदार्थ भी आसानी से निकल जाते हैं।

वेट लॉस में मदद करता है -

सेंधा नमक वसा कोशिकाओं को शरीर से निकालकर वेट लॉस करने में मदद करता है। यह बार बार भूख लगने की समस्या को भी कम करता है।