सौंफ के फायदे और नुकसान - Aniseed (Anise) Benefits and Side Effects in Hindi
आहार

सौंफ के फायदे और नुकसान - Aniseed (Anise) Benefits and Side Effects in Hindi

Health Raftaar

सौंफ (Fennel) का वैज्ञानिक नाम (Foeniculum Vulgare) है। सौंफ (Saunf) के लाभ अनगिनत हैं। यह औषधीय गुणों से भरपूर सुगन्धित खाद्य पदार्थ है। सौंफ में कैल्शियम, सोडियम, आयरन, पोटेशियम जैसे लाभकारी तत्व पाये जाते हैं। खुशबू वाली सौंफ के फूल पीले रंग के होते हैं। सौंफ के सूखे और पके हुए बीज तेल और दवाई बनाने में प्रयोग होते हैं। 

सौंफ का पौधा 2.5 मीटर तक ऊंचा होता है और इसके पत्ते 40 सेंटीमीटर बड़े और धागेनुमा सरंचना से जुड़े होते हैं। भारत में इसका प्रतिवर्ष 110,000 टन का उत्पादन होता है। सौंफ का औषधि के रूप में भी उपयोग किया जाता है। 

सौंफ के फायदे - Benefits of Saunf in Hindi

1. पेट के लिए लाभकारी-

सौंफ के रोजाना इस्तेमाल से पेट में कब्ज की समस्या नहीं होती है। इसके लिए सौंफ को मिश्री के साथ पीसकर चूर्ण बना लें और लगभग 5 ग्राम चूर्ण को सोते समय गुनगुने पानी के साथ लें। इससे कब्ज और गैस की समस्या के साथ पेट की अन्य समस्याओं से भी निजात मिलती है। पेट सही रहने पर आप तमाम बीमारियों से दूर रहते हैं।

2. आँखों के लिए फायदेमंद- 

सौंफ (Saunf) का सेवन आँखों की रोशनी को बढ़ाता है। रोजाना खाना खाने के बाद एक चम्मच सौंफ खाएं या फिर आधा चम्मच सौंफ का चूर्ण मिश्री में मिलाकर रात को सोते समय दूध के साथ लें। दूध की जगह पानी का भी इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इससे आँखों को काफी लाभ मिलता है।

3. खांसी को करे छूमंतर-

10 gm सौंफ (Fennel) के अर्क को शहद में मिलाकर दिन में 2 से 3 बार सेवन करने से खांसी दूर हो जाती है। अन्य उपाय में, एक चम्मच सौंफ और 2 चम्मच अजवाइन को आधा लीटर पानी में उबाल लें फिर इसमें 2 चम्मच शहद मिलाकर छान लें। इस काढ़े की 3 चम्मच को 1-1 घंटे के अंतराल पर पीने से खांसी में लाभ मिलता है। सौंफ को मुँह में रखकर चबाने से सूखी खांसी शांत होती है।

4. सौंफ बढ़ाए त्वचा में ग्लो- 

स्वास्थ्य में लाभकारी होने के साथ साथ सौंफ सौंदर्य को भी बढ़ाती है। रोजाना सुबह शाम सौंफ खाने से खून साफ़ होता है जो कि त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके नियमित सेवन से त्वचा में चमक भी आती है।

5. लूज़ मोशन

यदि आपको लूज़ मोशन हो रहे हों तब भी सौंफ आपके बहुत काम आ सकती है। सौंफ को पीसकर उसमे बूरा (पिसी चीनी) मिलाकार पानी के साथ फांक लें। लूज़ मोशन में आराम मिलेगा।

6. मुंह के छाले-

अगर आपके मुंह में छाले पड़ गए हैं तो सौंफ फायदेमंद साबित होगी। इसके लिए एक गिलास पानी में 40 ग्राम सौंफ डालें। इसके बाद पानी को तब तक उबाले जब तक आधी गिलास न हो जाए। इसमें जरा सी भुनी फिटकरी मिलाकर दिन में दो बार गरारे करने से लाभ होगा।

सौंफ के कुछ अन्य लाभ -

सौंफ  (Saunf) बच्चों के लिए भी बहुत लाभकारी होती है। बच्चों को अक्सर पेट में समस्या हो जाती है और उसकी वजह से अन्य समस्याएं हो जाती हैं ऐसे में सीधा और सरल उपाय है सौंफ। अनिद्रा की समस्या को सौंफ काफी हद तक दूर करती है। सौंफ का काढ़ा बनाकर उसमें 10 से 15 ग्राम घी और थोड़ी मिश्री मिलाएं। इसके नियमित सेवन से आपकी नींद न आने की बीमारी दूर हो जायेगी।

सौंफ से सावधानी - Precaution from Saunf in Hindi

  • सेलेरी (celery), गाजर और मुग्वर्त (mugwart) से जिन लोगोँ को एलर्जी हो उन्हें सौंफ का सेवन भी नही करना चाहिए।
  • सौंफ के अधिक सेवन से थक्का (slow blood clotting) जमने की क्रिया धीमे हो सकती है। इसके अलावा जिन लोगों को ब्लीडिंग डिसऑर्डर है उनमें रिस्क और भी बढ़ सकता है।
  • ब्रैस्ट कैंसर, एंडोमेट्रियोसिस आदि में सौंफ एस्ट्रोजन की तरह काम करके हार्मोन कंडीशन को सेंसिटिव कर सकती है।