close button

कैसे करें गर्भ निरोधक गोलियों का प्रयोग (How To Use Oral Contraceptives Pills)

गर्भनिरोधक गोलियां अनचाहे गर्भ और परिवार नियोजन के लिए आज भी सबसे सुरक्षित और विश्वभर में मान्य तरीका है। बर्थ कंट्रोल के लिए उपयोग होने वाली इन गोलियों में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन हार्मोन का उपयोग होता है। शादी के बाद स्थायी बर्थ कंट्रोल के रूप में नियमित लेने पर गोली अत्यधिक प्रभावी होती है।

गर्भ निरोधक गोलियों के प्रकार (Types of Oral Contraceptives Pills)
मुंह से खाने वाली गर्भ निरोधक गोलियां कई तरह की होती हैं। कुछ का इस्तेमाल लगातार किया जा सकता है जो पूरे महीने के पैक में आती है। इन्हें मिश्रित गर्भनिरोधक गोलियां (Combined Birth Pills) कहा जाता है, इसमें एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टिन नाम के दो हार्मोन होते हैं।
अन्य गोलियां होती हैं: 
* मिनी पिल या प्रोजेस्टिन ओनली पिल (Progesterone Pills) 
* इमरजेंसी गर्भनिरोधक गोलियां (Morning After Pills or Emergency Contraception Pills)
इनमें से महीने के पैक में आने वाली मिश्रित गर्भनिरोधक गोलियां ही सबसे ज्यादा प्रयोग होती हैं। शादी के बाद बर्थ कंट्रोल के लिए यह लोकप्रिय है। 

गर्भनिरोधक गोलियों का कैसे इस्तेमाल करें (How to Use Pills)
मासिक पैक वाली गोलियों का प्रयोग 

अधिकांश डॉक्टर गर्भ निरोध के लिए मासिक गोलियों के पैक की सलाह देते हैं। एक पैक में लगभग 28 गोलियां होती हैं। इन गोलियों में से 21 एक्टिव पिल (हार्मोन्स सहित) और 7 इनएक्टिव पिल्स (हार्मोन्स रहित) होती हैं। इनएक्टिव का प्रयोग पीरियड्स के दौरान करते हैं और मासिक धर्म शुरु होने पर पुन: नया पत्ता शुरु किया जाता है। गर्भनिरोधक गोलियों का इस्‍तेमाल 21 दिन त‍क लगातार करना चाहिए, इसके बाद 7 दिन के लिए इसे रोक दिया जाता है, जिस दौरान मासिक धर्म का स्राव होता है। यदि महिला गोली का सेवन एक या उससे अधिक बार करना भूल जाती है तब गर्भ ठहर सकता है। इसलिए गर्भनिरोधक गोली के सेवन के बीच में अंतराल करने से बचे।

मिनी पिल्स का प्रयोग (Use of Mini Pills)
मिनी पिल्स में केवल प्रोजेस्ट्रोन की थोड़ी मात्रा होती है। हालांकि यह मासिक पैक या कॉम्बाइन पिल्स की अपेक्षा बेहद कम असरदार मानी जाती है। इसके प्रयोग से पीरियड्स हल्के हो जाते हैं और इसका प्रयोग बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान किया जा सकता है। 

आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां (Emergency Contraceptives Pills)
शादी से पहले या असुरक्षित यौन संबंध बनाने के लगभग 72 घंटे के भीतर इन गोलियों का सेवन करने से गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है। इन गोलियों को कभी खाली पेट नहीं लेना चाहिए। यह गोलियां महिलाओं के अंदर अंडों को फ़र्टिलाइज होने से रोकती हैं।

साथ ही कोशिश करनी चाहिए कि गोलियां 72 घंटे की जगह 12 या 24 घंटे में ही ले ली जाएं क्योंकि कुछ महिलाओं के शरीर में अंडे जल्दी फर्टलाइज (Fertilize) होते हैं। इन गोलियों का उपयोग कम करना चाहिए, अधिक करने से मासिक-चक्र खराब हो जाता है या हार्मोन चेंज हो जाते हैं। 

Sex, Relationship, Health, सेक्स, रिलेशनशिप, स्वास्थ्य टिप्स, Garbh Nirodhak Goli, Dawa, Prayog, Kab, Kaise, Use, Oral-contraceptives-pills, Progesterone Pills, Mini Pills, आपातकालीन, गर्भनिरोधक, गोलियां, प्रयोग, Health Tips, हेल्थ टिप्स, Hindi

राशिफल

धर्म

शब्द रसोई से