close button

योग और फिटनेस (Yoga And Fitness)

योग, न केवल शारीरिक बल्कि मानसिक बीमारियों को भी दूर करता है। योग के ऐसे ही लाभों को देखते हुए यह न केवल देश बल्कि विदेशों में भी बेहद पसंद किया जा रहा है। योग करने के लिए शरीर को बेहद तकलीफ देने की जरूरत नहीं होती है न ही इसके लिए जिम जाने की जरूरत है। तनाव से लेकर हृदय, मोटापा, डायबिटीज आदि सभी बीमारियों पर योग के द्वारा काबू पाया जा सकता है।

 

योग करने के लाभ (Benefit of Yoga in Hindi)

- योग करने से शरीर की थकान मिटती है। शरीर और मन को तरोताजा करने औार आध्यात्मिक लाभ की दृष्टि से भी योगासनों का अपना अलग महत्व है।
- योगासनों से शरीर की आंतरिक प्रक्रिया सुचारू रूप से काम करती है।
- योगासनों द्वारा पेट की सफाई होती है और पाचन शक्ति दुरूस्त होती है।
- योगासन मेरुदण्ड-रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाते हैं। इतना ही नहीं पूरे शरीर में लचीलापन आता है।
- योगासन मांसपेशियों को शक्ति प्रदान करते हैं। इससे मोटापा घटता है और दुबला-पतला व्यक्ति तंदुरुस्त होता है।
- योगासन करने से रक्त का संचार तेज होता है जिससे चेहरे पर चमक आती है।
- योगासनों द्वारा स्वस्थ वायु का संचार होता है जिससे फेफड़े बेहतर ढंग से कार्य करते हैं।
- योगासन शारीरिक स्वास्थ्य के लिए वरदान स्वरूप है क्योंकि इनमें शरीर के समस्त भागों पर प्रभाव पड़ता है और वह अपना कार्य सुचारु रूप से करते हैं।
- योगासनों से आंखों की रोशनी बढ़ती है।
- योगासन से शरीर के प्रत्येक अंग का व्यायाम होता है, जिससे शरीर पुष्ट, स्वस्थ एवं सुदृढ़ बनता है।


योग करें, मगर सावधानी से ( Precaution During Yoga )

योगा करने के दौरान कुछ सावधानियां बरतनी बेहद आवश्यक हैं। नीचे दी गई सावधानियों और टिप्स (Yoga Tips in Hindi) की मदद से आप कई परेशानियों से बच सकते हैं:

खाना खाने के बाद योग खतरनाक (Avoid yoga after having food):- भरे पेट के साथ योग करना कई समस्याओं का कारण बनता है। भोजन और योग की प्रैक्टिस के बीच दो घंटे का अंतराल होना चाहिए।

ढीले और आरामदायक कपड़े पहनें (Wear loose clothes):- ठीक से सांस लेने और पसीना बेहतर तरीके से बाहर निकल पाए उसके लिए आरामदायक और लूज फिटिंग वाले कपड़े पहनकर योग करें। शूज भी बहुत टाइट या लूज ना हो।

माहवारी के दौरान योग न करें (Avoid yoga during menstruation):- माहवारी के दौरान महिलाओं को सूर्य नमस्कार और शरीर को पीछे की ओर मोड़कर करने वाली मुद्राएं नहीं करनी चाहिए।

वॉर्मअप जरूरी (Warm up is necessary before yoga):- योगा करने से पहले 10 मिनट की वॉर्मअप या स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करें। व्यायाम के बाद भी 10 मिनट तक आराम के साथ शवासन करें। इससे सांस लेने की क्षमता बढ़ती है और ध्यान केंद्रित करने की भी।

इसके अलावा कॉर्डिक या हाइपरटेंशन जैसी कोई भी समस्या है तो बिना सही ट्रेनर के योगा करना उचित नहीं है। अगर घर पर योगा कर रहे हैं तो फॉर्वर्ड बेंडिंग और ऐसी मुद्राएं करने से बचें, जिसमें शरीर को पीछे की ओर मोड़ना पड़े।


यूं करें घर पर योग ( How to Do Yoga at Home )

कई दफा झटके से की जाने वाली योग मुद्राएं चोट का कारण भी बन सकती है। इससे मांसपेशियों में खिंचाव होने का भी खतरा रहता है। योगा ध्यान केंद्रित करने और फिट रखने की एक चमत्कारिक और प्रभावी कला है। इसे किसी प्रशिक्षक की देखरेख में करना चाहिए, लेकिन अगर आप सुरक्षा उपायों को अच्छी तरह जानते हैं तो घर पर इसका अभ्यास कर सकते हैं। यहाँ हम कुछ ऐसे जरूरी टिप्स दे रहे हैं जिन्हें आसन और योग शुरू करने से पहले ध्यान में रखना जरूरी है।

योगा के लिए अलग स्थान बनाएँ (Separate place for yoga):- योग के लिए एक अलग स्थान निश्चित करें और सुनिश्चित करें कि वहां शोर-शराबा न हो। यह जगह फर्नीचर या पर्दों से भरा न हो और शांत एवं स्वच्छ हो। आप इस स्थान को शांति प्रदान करने वाले चित्रों से सजा सकते हैं, जिससे यह शांत और पवित्र महसूस हो।

योग के लिए जरूरी चीजें (Necessary things for yoga):- योग के लिए चटाई जरूर साथ रखें। शवासन तथा अन्य कुछ आसन करने के लिए कम्बल भी प्रयोग कर सकते हैं।

योग के दौरान चोट या दुर्घटना से बचने के लिए सतर्कता बरतें (Be aware of any accident):- योग करने के स्थान पर ऐसी कोई चीज न रहने दें, जिससे आपको चोट या जख्म लग सकता हो। योग ठोस सतह पर करें, न कि गद्दों आदि पर।

अपना व्यक्तिगत आसन और योग-शैली चुनें (Select your own choice yoga):- अपने शरीर और अपनी शक्ति के अनुरूप योगासन की शैली चुनें। किसी विशेषज्ञ की सहायता से हठ योग, कृपालु योग या आयंगर योग में से अपने लिए उपयुक्त शैली का चयन करें। यदि आप योग की मुद्राएँ सीखना चाहते हैं तो आयंगर योग करें। मेडिटेशन या ध्यान करने की इच्छा रखने वालों को कुंडलिनी योग करने की सलाह दी जाती है।

किसी विशेषज्ञ से निर्देश लें (Expert guidance is necessary):- किसी प्रशिक्षक या विशेषज्ञ की निगरानी में योग करें। एक बार इस कला की बारीकियों से परिचित हो जाने के बाद आप इसे अपने-आप कर सकते हैं।

स्मार्ट फोन की सहायता लें (Help from smart phone):- उन्नत तकनीकों के आने के कारण हमारा हर कार्य कुछ आसान हो गया है। योगा भी इससे अलग नहीं है। योगा के वीडियो डाउनलोड करें और इसका अनुसरण करें।

मेडिटेशन या ध्यान ( Meditation ):- मेडिटेशन योगा का एक अभिन्न अंग है, इसलिए 2 मिनट के लिए मेडिटेशन करें। इससे आपके मस्तिष्क को तनाव से राहत और मन को शांति मिलेगी। मेडिटेशन से रक्तचाप नियंत्रित रहता है और आपका मूड अच्छा रहता है। यह आपके नकारात्मक सोच-विचार को सकारात्मक बनाता है।

नोट- किसी भी एक्सरसाइज के दौरान झटके लगना, दर्द या असहजता होने पर उसे रोकना बेहतर होगा। ऐसे में किसी फिजियोथैरेपिस्ट या डॉक्टर की सलाह लें।

Benefit of Yoga, How to Do Yoga at Home, Meditation, Precaution During Yoga

राशिफल

धर्म

शब्द रसोई से