Menu
Search
Menu
close button

बालों की देखभाल के लिए आयुर्वेदिक टिप्स (Ayurvedic Hair Care Tips)

चाहे महिला हो या पुरुष दोनों को ही अपने बालों से बेहद लगाव होता है। बालों की सुंदरता के लिए हम-आप बाजार में उपलब्ध कई तरह के सौंदर्य उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं। मगर इन सौंदर्य उत्पादों में मौजूद केमिकल बाल की जड़ों को कमजोर करते हैं।

बालों की सुंदरता यानि बालों का काला, घना, लंबा और रेशमी होना तभी संभव है जब बालों की जड़ मजबूत हो। बालों की जड़ को मजबूती आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों, तेल और औषधियों से मिलती है। बालों की संपूर्ण देखभाल के लिए आयुर्वेद में कारगर उपायों का खजाना है। आइए जानते हैं बालों की देखभाल के लिए आयुर्वेद के कारगर टिप्स।

काले बालों के लिए आयुर्वेदिक टिप्स (Ayurvedic Tips for Black Hair)

शिकाकाई और आंवला (Shikakai and Aanvala)

लंबे और रेशमी बालों के लिए शिकाकाई और आंवले से बालों को धोएं। शिकाकाई और सूखा आंवला बराबर मात्रा में लें। रात में दोनों को पानी में भींगने के लिए छोड़ दें। सुबह पानी को कपड़े से छान कर निकाल लें। अब इस पानी को सिर पर मलें और बालों को धोएं। बालों के सूखने के बाद इनमें नारियल तेल लगाएं। इस विधि को आजमाने से बाल काले, घने और लंबे होते हैं।

भृंगराज (Bhringraj)

भृंगराज को भली-प्रकार काटकर बारीक बनाया हुआ चूर्ण और काले तिल को बराबर मात्रा में मिलाएं। रोज़ सुबह के समय एक चम्मच यह चूर्ण खूब चबाकर खाएं और उपर से ताजा पानी पी लें। लगातार छह महीने इसे आजमाने से समय से पहले बालों का पकने और झड़ने की शिकायत से छुटकारा मिल जाएगा। केश काले, घने और चमकदार होंगे।

दही का शैंपू (Curd Shampoo)

साबुन के स्थान पर 100 ग्राम दही में थोड़ी सी काली मिर्च मिलाकर हफ्ते में इससे बालों को धोएं। इससे बाल काले होते हैं, झड़ने बंद होते हैं और बालों का सौंदर्य खिल उठता है।

नींबू का शैंपू (Lime Juice Shampoo)

मटमैले बालों को काला बनाने के लिए नींबू का रस निचोड़ कर उसमें दो कप गर्म पानी डालें। बालों को गीला करने के बाद इस नींबू के शैंपू को सिर में डालकर रगड़ें। याद रखें ऐसा करने के बाद बालों को पानी से न धोएं, तौलिए से बाल सुखाएं। कुछ देर बाद सूर्य की धूप में बैठकर कंघी से केश संवारें। हफ्ते में दो-तीन बार ऐसा करने से बाल स्वाभाविक रुप से काले होते हैं।

बालों में निखार के लिए आयुर्वेदिक नैचुरल शैंपू (Ayurvedic Natural Shampoo for Shining Hair)

मुल्तानी मिट्टी शैंपू (Multani Mitti Shampoo)

मुल्तानी मिट्टी 100 ग्राम एक कटोरी में लेकर पानी में भिगों दें। जब दो घंटे में यह फूलकर लुगदी सी बन जाए तो हाथ से मसल कर गाढ़ा घोल बना लें। इस गाढ़े घोल को सूखे बालों में ही डाल कर मुलायम हाथों से धीरे-धीरे रगड़ें। पांच मिनट बाद सर्दियों में गुनगुने और गर्मी में ठंडे पानी से धो लें। इस प्रकार साबुन की जगह मुल्तानी मिट्टी से बालों को हफ्ते में दो बार धोने से उसमें जबरदस्त निखार आता है और बाल रेशम के समान मुलायम और लंबे हो जाते हैं।

बेसन का शैंपू (Besan Shampoo)

साबुन की जगह हफ्ता मे दो बार बेसन को पानी मे घोल कर बालों में लगाए, फिर एक घंटे बाद धोएं। ऐसा करने से बाल काले, घने और लंबे होंगे। बालों की हर तरह की गंदगी साफ होकर चमकीले और मुलायम होंगे। सिर की खाज और फुंसियां भी जल्दी ठीक होंगी।

रीठे की शैंपू (Reetha Shampoo)

रात में रीठे के छिलके छोटे-छोटे टुकड़े कर पानी में भिंगों दें। सुबह उस पानी को उबाल कर या मसल कर सिर धोने से बाल काले, घने और लंबे होते हैं। याद रहे इससे बालों को पहले थोड़ा गुनगुना पानी डाल कर धोएं। उसके बाल रीठे के पानी की घोल आधी मात्रा सिर पर डालकर बालों को पांच-दस मिनट तक मलें और उसके बाद धो डालें।

सफेद या झड़ते बालों के लिए आयुर्वेदिक टिप्स (Ayurvedic Tips for White Hair and Hair Fall)

आंवला चूर्ण (Aanvala Powder)

बालों की सफेदी रोकने के लिए केश में आंवला चूर्ण का लेप लगाएं। सूखे आंवले के चूर्ण को पानी के साथ मिला कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को लेप की तरह केश में लगा लें। दस मिनट बाद बालों को पानी से धो लें। इससे बालों का सफेद होना बंद हो जाता है। झड़ना-टूटना भी बंद होता है।

विकल्प एक- आंवला चूर्ण को रात भर पानी में भिंगों कर रखें। सुबह इस  आंवले के पानी से बाल धो लें। केश आंवला जल से धोने से पहले रात में केश में आंवला तेल से मालिश कर लें।

विकल्प दो- एक चम्मच आंवला चूर्ण दो घूंट पानी के साथ सोते समय पीना भी बेहतर रहेगा।

विकल्प तीन- नियमित रुप से दोनों हाथ की उंगलियों के नाखूनों को आपस में रोजाना 5-5 मिनट तक रगड़ें। इस प्रयोग के नियमित अभ्यास से बालों का सफेद होना रुक जाता है। केशों का झड़ना भी बंद हो जाता है। बाल काले व घने होने लगते हैं।

बालों में रुसी के लिए आयुर्वेदिक टिप्स (Ayurvedic Tips for Dandruff)

करीब 100 ग्राम नारियल का तेल और 5 ग्राम कपूर मिला कर किसी बोतल में रख लें। दिन में दो बार स्नान करने के बाद जब बाल पूरी तरह सूख जाए तो सिर में इससे मालिश करें। रात में भी सोते समय बालों की मालिश इस तेल से करें। डैंड्रफ झड़ कर गिर जाएंगे।

विकल्प एक- नीम के पत्तों का रस व 100 ग्राम तिल का तेल लेकर दोनों को धीमा आंच पर पकाएं। जब रस जल जाए और तेल शेष रह जाए तो तब तेल को छानकर रख लें। इस तेल को बालों में लगाएं, डैंड्रफ गिरने लगेगा और बालों का झड़ना बंद हो जाएगा।

विकल्प दो- बाल धोने से आधा घंटा पहले एक नींबू काटकर मलने और फिर गुनगने पानी से केश धोने से सिर की रुसी साफ हो जाती है।

Hair Care Tips, बाल की देखभाल, Baalon Ki Dekhbhal, Baalo Ko Jhadna Se Rokna, Ayurvedic, Stop Hair Fall, बाल, आयुर्वेदिक टिप्स, बालो को झडने से रोके, Health Tips, हेल्थ टिप्स, Hindi

रफ्तार से जुड़े

-->

राशिफल

Horoscope

शब्द रसोई से