Menu
Search
Menu
close button

डायबिटिक रेटिनोपैथी (Diabetic Retinopathy)

Diabetic retinopathy

डायबिटिक रेटिनोपैथी (Diabetic retinopathy)

डायबिटिक रेटिनोपैथी एक बीमारी है, जो मधुमेह (diabeties) से पीड़ित व्यक्ति की रेटिना (आँख का पर्दा जहां तस्वीर बनती है) को प्रभावित करती है। यह रेटिना को रक्त पहुंचाने वाली महीन नलिकाओं के क्षतिग्रस्त होने के कारण होता है, अगर इसका समय पर इलाज़ न कराया जाए तो पीड़ित व्यक्ति अंधेपन का शिकार हो सकता है। डायबिटिक रेटिनोपैथी दुनिया में अंधेपन का सबसे बड़ा कारण है, जिसके मामले हर साल बढ़ते जा रहे हैं।

 

रेटिना क्या है (What is retina)

रेटिना आँखों के अंदरूनी भाग में स्थित एक नाजुक प्रकाश सम्बन्धी परत है, जो किसी वस्तु से परावर्तित होकर आने वाले प्रकाश की मदद से वस्तु की छवि निर्माण के लिए जिम्मेदार होती है। रेटिना को होने वाला नुकसान रेटिनोपैथी का कारण बनता है।

 

मधुमेह रेटिना को कैसे प्रभावित करता है (Diabeties effect on retina)

मधुमेह के मामले में, रक्त में शर्करा की बढ़ी हुई मात्रा रक्त नलिकाओं को क्षतिग्रस्त कर सकती है, फलस्वरूप नलिकाओं से रक्त स्राव हो सकता है, जिससे रेटिना में सूजन पैदा हो जाती है। रक्त नलिकाओं में खराबी के कारण रेटिना को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी पोषक तत्व व ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित हो जाती है। शुरूआती चरण में उपर्युक्त कारणों से दृष्टि के धुंधलेपन के लक्षण दिखते हैं, जैसे जैसे बीमारी बढ़ती है, रेटिना क्षेत्र में वांछनीय रक्त नलिकाएं पनपने लगती हैं जो ऑक्सीजन आपूर्ति में बाधा पैदा करतीं हैं। यह रक्त नलिकाएं मधुमेह के कारण कभी भी फट सकती हैं, फलस्वरूप रेटिना के आसपास होने वाले रक्त स्राव से आँखों में अंध बिंदु (ब्लाइंड स्पॉट) बन सकता है या अचानक दृष्टि खो भी सकती है या नजर कमजोर हो सकती है।

 

Diabetic Retinopathy, डायबिटिक रेटिनोपैथी, Hindi

-->

राशिफल

Horoscope

शब्द रसोई से