close button

कैसे करें बेस्ट शैंपू का चुनाव (How To Choose Best Shampoo)

बालों को धोना ठीक वैसा ही है जैसे आप रोजाना दांतों में ब्रश करते हैं या फिर चेहरा धोते हैं। यह हमारी रोज की आदतों में शुमार है। जिन लोगों के बाल कुदरती रुप से घने और चमकीले हैं, उन्हें अपने बालों के देखभाल के लिए ज्यादा परेशानी नहीं उठानी पड़ती है। मगर बाकी को तो बालों की देखभाल के लिए काफी जतन करने पड़ते हैं।

क्या आप एक ऐसी लड़की हैं जो शैंपू के ब्रांड के प्रति ज्यादा जागरुक हैं। या फिर आपको जो शैंपू दुकानदार ऑफर करता है वो आप खरीद लेती हैं। या फिर आप महंगे और आकर्षक रैपर में पैक शैंपू देखकर उसे खरीद लेते हैं। अगर आप इनमें से कुछ भी करती हैं तो आपको अलर्ट हो जाना चाहिए, क्योंकि आपके बालों के लिए कौन सा शैंपू फिट है,  इसका चुनाव इतना आसान नहीं है।

आपका बालों का प्रकार क्या है, बालों की जड़ों को कौन सा शैंपू ज्यादा स्वस्थ रखता है, शैंपू में कौन-कौन से केमिकल और तत्व शामिल हैं और बालों के पीएच लेवल (pH Level) के लिए कौन सही है? ऐसे कुछ बातें हैं जिनको शैंपू का चुनाव करते समय आपको ध्यान में रखना चाहिए।

आपके बाल किस प्रकार के हैं? (Texture of Your Hair)

क्या आपके बाल सीधे हैं या फिर कर्ली हैं? क्या आपके बाल लहराते हैं या सपाट हैं? क्या आप अपने बालों को कलर करते हैं? शैंपू चूज करने से पहले ऐसे सवालों को ध्यान में रखें। बालों के अलग-अलग प्रकार के लिए अलग-अलग तरह के शैंपू होते हैं।

इतना ही नहीं, हर शैंपू के फीचर्स और फायदे अलग-अलग होते हैं। इसलिए बालों की सेहत और चमक के लिए आपको अपने बालों की जरुरतों को जानना पड़ेगा कि आपके बालों के लिए कौन सा शैंपू सही है।

सही शैंपू सलेक्ट करने का सबसे आसान तरीका है कि शैंपू के पैक पर चिपके लेबल पर लिखे हेयर टाइप को पढ़ लें। मसलन, ड्राई हेयर, ऑयली हेयर, फाइन हेयर और फ्रिजी हेयर, आदि।

फाइन हेयर (Fine Hair)

जिनके फाइन हेयर हैं वो अपने बालों को वोल्यूमाइजिंग शैम्पू (Volumizing Shampoo) से धोएं।

कर्ली हेयर (Curly Hair)

जिनके कर्ली हेयर हैं वो ऐसे शैंपू इस्तेमाल करें जो केमिकली ट्रीटेड हो और रूखे बालों के लिए ख़ास तौर पर बना हो।

रूखे बाल (Dry Hair)

ऐसे शैंपू से बाल धोएं जिसमें मॉस्चराइजर हो ताकि बालों में नमी लंबे समय तक बनी रहे। शैंपू में शामिल कुदरती तेल या केमिकल की पड़ताल करें। अगर आपके बाल ड्राय हैं तो नारियल तेल बेस्ट रहेगा। बालों की देखभाल के लिए भी नारियल तेल से बेहतर कोई नहीं है।

ऑयली हेयर (Oily Hair)

ऐसे शैंपू का इस्तेमाल करें जो खासतौर पर ऑयली हेयर के लिए बना हो। मॉस्चराइजर और कंडीशनर वाले शैंपू से परहेज करें। ऑयली हेयर में डैंड्रफ की भी परेशानी रहती है। डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए बालों को ऐसे एंटी डैंड्रफ शैंपू से धोएं जिसमें केटोकोनाज़ोल (Ketoconazole), लिए जिंक पिरिथिओन (Zinc Pyrithione) और सेलेनियम (Selenium Sulfide) केमिकल शामिल हों।

डाय या कलर किए बाल (Dye and Colured Hair)

ऐसे शैंपू का इस्तेमाल करें जिससे बाल धोने के बाद रंग नहीं धुल जाए।

क्या आपको बालों की कंडीशनिंग करना चाहिए? (Conditioning or Not?)

साल 1950 से पहले शैंपू महज एक लिक्विड सोप था। इससे बालों को धोने से बाल बेजान-सूखे हो जाते थे और अधिक इस्तेमाल से झड़ने लगते थे। कंडीशनर के आने के बाद शैंपू में मॉस्चराइजर को शामिल किया गया। बालों में चमक और नमी के लिए शैंपू करने के बाद कंडीशनिंग जरुर करना चाहिए। यह बालों को नर्म-मुलायम और चमकीला ही नहीं बनाता है बल्कि बालों को स्टाइलिश लुक भी देता है।

क्या बालों को शैंपू से रोज धोना चाहिए (Shampoo Daily or Not?)

बालों को तो हम लोग रोज धोते हैं मगर हर रोज बालों में शैंपू करना ठीक नहीं है। हफ्ते में तीन या चार बार शैंपू करना ठीक माना जाता है। शैंपू का अधिक इस्तेमाल करने से बालों की कुदरती चमक और बालों में मौजूद प्राकृतिक तेल खत्म हो जाता है। हां, यदि आपके बाल ऑयली हैं तो आप बालों में शैंपू हर दूसरे दिन कर सकती हैं।

शैंपू के चयन से पहले इन छह बातों पर दें ध्यान (Essential Tips to Choose Shampoo)

1. बालों के जड़ की सेहत (Scalp Care)

बालों की देखभाल का मतलब है बालों के जड़ की देखभाल, क्योंकि जड़ों से ही बालों का निकलना, बढ़ना शुरु होता है। इसलिए बालों को धोने के लिए ऐसे शैंपू को चुनाव करें, जो बालों के जड़ की सेहत को नुकसान न पहुंचाता हो। बालों की जड़ (Scalp) त्वचा की तरह है। यह भी त्वचा की तरह ऑयली, संवेदनशील और एलर्जिक होती है। अगर शैंपू आपके त्वचा के लिए सही नहीं है तो बालों के जड़ (Scalp) में खुजलाहट, रैशेज और चर्म रोग हो सकते हैं।

2. एसीडिटी (Acidity or pH Level)

बालों के जड़ (Scalp) का पीएच लेवल (pH Level) बालों से ज्यादा (लगभग पांच) होता है। अगर आप विभिन्न स्तर के पीएच लेवल के शैंपू का इस्तेमाल करेंगे तो इससे बाल कमजोर होंगे और ज्यादा झड़ने लगेंगे। वैसे शैंपू का इस्तेमाल करें जिस पर पीएच लेवल लिखा हो।

3. टाइम फैक्टर (Time Factor)

शैंपू के पैक पर लिखा रहता है कि इसे रोजाना लगाना है या हफ्ते में दो या तीन बार। शैंपू के चयन में टाइम फैक्टर का काफी महत्व है, रोजाना इस्तेमाल करने वाले शैंपू का असर थोड़ी देर के लिए रहता है और यह बालों को नुकसान भी पहुंचाता है। वहीं, हफ्ते में दो या तीन बार इस्तेमाल करने वाले शैंपू का असर लंबे समय तक रहता है।

4.  शैंपू में प्रयुक्त अवयवों की जांच करें

शैंपू लेने से पहले उसमें शामिल अवयवों की जांच कर लें। मान लें अगर किसी को मेंथॉल से एलर्जी है और वो मेंथॉल बेस्ड शैंपू से बाल धोएगा तो वो नुकसानदेह होगा। जो केमिकल आपके त्वचा के लिए संवेदनशील हैं, उसकी पहले ही जांच कर लें।

5. निर्देशों का पालन करें (Follow the Instructions to use Shampoo)

क्या आपके शैंपू के लेवल पर यह निर्देश है कि शैंपू लगाने के बाद बालों को ठंढे पानी से धोएं। अगर ऐसा लिखा है तो आपको गर्म पानी से बालों को नहीं धोना चाहिए। ऐसा करना नुकसानदेह होगा। शैंपू के लेवल पर दिये गये इस्तेमाल संबंधी निर्देशों को जरूर ध्यान देना चाहिए।

6. और क्या जरुरी है छिपा हुआ (Natural Ingredients)

शैंपू खरीदने से पहले यह जरूर जांच लें कि इसमें कुदरती तेल या जड़ी-बूटी तो शामिल हैं। अगर शैंपू में जोजोबा तेल (Jojoba Oil), एलोवेरा (Alovera) और ग्रीन टी (Green Tea) शामिल हैं तो यह बालों की जड़ों को तो मजबूत करेंगे ही, साथ ही साथ बालों को भी स्वस्थ एवं चमकदार भी बनाएंगे।

Hair, बाल, Baal, Best Shampoo for Hair, Choose the Right Shampoo, बेस्ट शैंपू का चुनाव, Beauty Tips, ब्यूटी टिप्स

राशिफल

धर्म

शब्द रसोई से